संस,अमृतसर:पूर्वमंत्रीप्रो.लक्ष्मीकांताचावलानेकहाहैकिसरकारेंजनतापरतरसकरे।जनतामहंगाईकेबोझतलेदबरहीहैऔरनेताआरोप-प्रत्यारोपमेंव्यस्तहैं।उन्होंनेकहाकिपंजाबमेंआजकलदोहीसमाचारमिलतेहैं।एकतोदलबदलनेकाऔरदूसराएक-दूसरेपरआरोप-प्रत्यारोपका।किसीनेतंजकसाऔरकिसीनेकोईपुरानाकिस्साखोलकरआरोपलगादिए।सरकारयादरखेऔरराजनेताभीहमेंराजनीतिकआरोपप्रत्यारोपसेकुछनहींलेना।जनतामहंगाईकेबोझतलेत्रस्तत्राहित्राहिकररहीहै।रसोईकेचूल्हेठंडेहोनेकीनौबतआगईहैऔरडीजल-पेट्रोलमहंगाहोनेसेगैसकीकीमतेंबढ़नेसेआमआदमीकादमघुटरहाहै।पंजाबकीवर्तमानसरकारअपनेदोमहीनेकेशासनकालमेंअगरकुछकरसकतीहैतोकरदे,अन्यथायहसियासीलड़ाईअपनेघरोंतकरखे,जनताकोमतसुनाए।वैसेभीअबइननेताओंपरकिसीकोविश्वासनहीं।जोअपनीपार्टीकेनहींहोसके,अपनेमतदाताओंकेनहींहोसके,जिसपार्टीकाएमएलएकिसीमतदाताद्वाराविकासकाप्रश्नपूछनेपरउसेथप्पड़मारदेताहैउनलोगोंसेअबकोईआशानहीं।विरोधीपार्टियोंकेलोगभीएक-दूसरेपरकेवलकीचड़उछालनेकाकामकररहेहैं।अगरजनताकेहितमेंकोईफैसलालेनाहैतोलीजिए।केवलमुफ्तखोरीकीघोषणाऔरआरोप-प्रत्यारोपसेआमजनताकापेटभरनेवालानहींहै।

By Ellis