राज्यब्यूरो,चंडीगढ़।पंजाबमें10मार्चकेबादकिसीभीराजनीतिकपार्टीकीसरकारबने,लेकिनउसेपिछलीसरकारकेबकायाबिजलीसब्सिडीकाभुगतानकरनापड़ेगा।यहलगभग8500करोड़रुपयेबनतीहै।पंजाबमेंचुनावआचारसंहितालागूहोनेसेपहलेचन्नीसरकारनेघरेलूसेक्टरकेवर्गकोतीनरुपयेप्रतियूनिटसस्तीबिजलीदेनेकीघोषणाकीथी,जिसपर3616करोड़रुपयेखर्चआनेथे,लेकिनचूंकियहराहतदिसंबरमहीनेसेदेनीथी,इसलिएइसवर्षमेंतोपूरीराशिनहींदेनीपड़ेगी।

बतादें,चन्नीसरकारकीओरसेसातकिलोवाटकेखपतकारोंकोतीनरुपयेबिजलीदेनीऔर2किलोवाटकेखपतकारोंकोबिजलीकेबिलोंकीबकायारकमकोमाफकरनाभीशामिलहै।31मार्चतकसरकारपंजाबस्टेटपावरकारपोरेशनलिमिटेड(पीएसपीसीएल)की8500करोड़रुपयेकीबिजलीसब्सिडीकीदेनदारहोगी।नईसरकारकोइससब्सिडीकीरकमकाभुगतानकरनाहोगा।चन्नीसरकारकीओरसेदीजानेवालीबिजलीरियायतोंकीराशिऔरपिछलेसालोंकीबकायासब्सिडीमिलाकरयहराशिसाल2021-2022कीकुलसब्सिडीकीराशि20500थी।

सरकारकीओरसेअबतक11500करोड़रुपयेकीअदायगीकीजाचुकीहै।इसकेअलावावर्ष2022-2023मेंपंजाबसरकारकीओरसेरियायतोंवालीराशिसहित4000करोड़रुपयेकीबिजलीसब्सिडीकीज्यादाअदायगीकरनीहोगी।पहलेसालानाबिजलीकीसब्सिडी10500करोड़थीजोअबबढ़कर14500रुपयेहोजाएगी।चाहेसरकारकीओरसेविधानसभाचुनावकोदेखतेहुएसस्तीबिजलीदेनेकीघोषणाकीगईहोलेकिनपावरकॉमकोसमयपरबिजलीसब्सिडीकीराशिकाभुगतानहोनामुश्किलहै।हरबारपुरानीसरकारकेखातेकीबिजलीकीसब्सिडीकीरकमनईसरकारकेखातेमेंजमाहोजातीहै।इसलिएनईसरकारकोहीपावरकॉमकाबकायाचुकानाहोगा।

By Doherty