नईदिल्ली,अनुरागमिश्र।कहतेहैंकिरक्तदानजीवनदानहोताहै।देशभरमेंविभिन्नबीमारियोंकासामनाकररहेलोगोंकोनियमितअंतरालपररक्तकीजरूरतहोतीहै।कईरिपोर्टइसबातकीतस्दीककरतीहैकिदुर्घटनाग्रस्तव्यक्तिकोअगरराहतऔररक्तसमयसेपहुंचजाएं,तोउसकीजानबचाईजासकतीहै।कोरोनामहामारीसेजूझरहेदेशमेंमरीजोंकाइलाजकरनेमेंदेशकेडॉक्टर,नर्सऔरदूसरेलोगदिन-रातलगेहुएहैं।संकटकीइसघड़ीमेंहमारीभीजिम्मेदारीबनतीहैकिहमभीलोगोंकीमददकरें।ई-रक्तकोषलोगोंकोसहीसमयऔरजरूरतमेंखूनपहुंचाकरअपनीजिम्मेदारीकानिर्वहनसहीढंगसेकररहाहै।14जूनकोविश्वरक्तदिवसहै,ऐसेमेंहमेंभीरक्तदानकाप्रणलेनेकीजरूरतहै।

येमरीजऔरडोनरकोमिलानेकाएकतरीकाहै।मुख्यत:मरीजकेतीमारदारखूनकेलिएइधर-उधरभटकतेहैं।एकब्लडग्रुपकाब्लडलेनेकेलिएब्लडबैंकजानापड़ताहै।ऐसेमेंकिसीएकब्लडबैंकमेंखूननहोनेपरदूसरेब्लडबैंकजानापड़ताहै।ऐसेमेंमरीजयातीमारदारवेबसाइटई-रक्तकोषपरचेककरसकतेहैंकिकहांकौनसाब्लडग्रुपउपलब्धहै।ई-रक्तकोषपूरेदेशमेंब्लडबैंकोंकेकार्यप्रवाहकोजोड़ने,डिजिटलीकरणकरनेऔरउन्हेंकारगरबनानेकेलिएएकपहलहै।

इसमेंएकसुविधायहभीहैकिडोनरखुदकोरजिस्टरकरसकताहै।डोनरकेरजिस्ट्रेशनकाफायदायहहैकिब्लडबैंककोइसकेबारेमेंजानकारीहोसकतीहै।ऐसेमेंब्लडबैंकफोनकरआवश्यकतानुसारडोनरकोबुलासकताहै।कैंसरपेशेंट,थैलीसीमियाऔरहीमोडायलिसिसकेरोगियोंकोखूनकीनियमितअंतरालमेंजरूरतपड़तीहै।स्वास्थ्यमंत्रालयकेअधिकारीनेकहाकिइससेडोनरऔरमरीजकीबेवजहकीदौड़खत्महोगई।

स्वास्थ्यमंत्रालयकेअधिकारीनेबतायाकिहमनेथैलीसीमियाऑनलाइनरिक्वेस्टबनाई।रोगीब्लडबैंकमेंजांचकरसकताहैकिवहांखूनमौजूदहैकिनहीं।साथहीवहयहबतासकताहैकिउसेकहांट्रांसफ्यूजनकरानाहै।यहजानकारीआईसीएचएस(इंटीग्रेटेडसेंटरफॉरहीमोग्लोबिनोपैथीऔरहीमोफीलिया)सेंटरकोचलीजातीहै।इसकेबादअमुकतारीखकोब्लडकाट्रांसफ्यूजनहोजाताहै।इसकेअलावाई-पासबनवाएं।डोनरखूनदानकरनेकेलिएजानहींपारहे।हमनेडोनरकेपासब्लडमोबाइलकोभेजा।कईबारडोनरकेघरकईकारणोंसेगाड़ीनहींपहुंचपारहीथी।कोरोनाकेदौरानजबकमीआईतोउसेबढ़ानेकेलिएलोगोंतकसंदेशभेजेगए,अपीलजारीकीगई,कुछएनजीओनेमददकी,बच्चोंकेछोटे-छोटेवीडियोबनाए।ऐसेमेंहमनेकाफीहदतकजरूरतपूराकरनेमेंमददकी।

हमयेलगातारजांचतेभीरहतेहैंकिकिसीजगहब्लडकमहोगयातोहमउसकीमात्राकोबढ़ानेकेलिएकोशिशेंकरतेहैं।स्वास्थ्यमंत्रालयकेअधिकारीनेकहाकिअभीकहाजारहाथाकिपूरीआबादीकेएकप्रतिशतकोब्लडकीजरूरतहै।परजिसतरहसेमेडिकलटूरिज्मबढ़ाहै,उससेदोप्रतिशतकोजरूरतहोसकतीहै,जबकिदिल्लीजैसेशहरोंमेंयेतीनप्रतिशततकहै।स्वास्थ्यमंत्रालयकेअधिकारीकाकहनाहैकिब्लडबैंकमैनेजमेंटकाऐसासिस्टमभारतमेंहीहै।

ब्लडबैंकोंमेंब्लडस्टॉक:ब्लडबैंकोंमेंउपलब्धब्लडस्टॉककीस्थितिकेबारेमेंयहांसेजानकारीप्राप्तकरसकतेहैं।यहांआपराज्यवार,जिलेवार,ब्लडग्रुप,रक्तघटकजैसेप्लेटलेट्सआदिकीजानकारीप्राप्तकरसकतेहैं।इसमेंआपसरकारीब्लडबैंककेबारेमेंभीपताकरसकतेहैं।

रजिस्टरकरें:यहांपरआपरजिस्टरकरसकतेहैं।ट्रैककरसकतेहैंऔरअपनीप्रोफाइलकोबनाएरखसकतेहैं।

रक्तदानशिविर:रक्तदानशिविरोंकेलिएदेखेंऔरपंजीकरणकरें

ब्लडबैंकोंसेसंपर्क:इसकेमाध्यमसेआपनिकटतमब्लडबैंकोंसेसंपर्ककरसकतेहैं।साथहीब्लडस्टोरेजयूनिटकेबारेमेंपताकरसकतेहैं।यहीनहींआपब्लडबैंकयाअस्पतालकेबारेमेंभीपताकरसकतेहैं।

ऐसेबनवाएंरक्तदानकेलिएई-पास

केन्द्रसरकारनेरक्तदानकरनेवालोंकेलिएई-पासबनवानेकाविकल्पदियाहै।हालांकि,पूरेदेशमेंलॉकडाउनमेंढीलहै,लेकिनयदिआपकोकभीजरूरतपड़ेतोरक्तदानकेलिएई-पासबनवासकतेहैं।इससेअस्पतालयाब्लडबैंकजाकरजरूरतमंदोंकोरक्तदानकरसकतेहैं।रक्तदानकेलिएबनेई-पासइस्तेमालदूसरेकार्योंकेलिएनहींकियाजासकताहै।

ई-पासकेलिएऐसेकरेंआवेदन

1.अपनेकंप्यूटरयास्मार्टफोनपर’’वेबसाइटखोलें

2.स्क्रीनकेदाईंओरसे'डोनेटनाउ'बटनपरक्लिककरें

3.अगलीस्क्रीनपर,खूनदेनेवालेव्यक्तिकाविवरणजैसेनाम,लिंग,ब्लडग्रुपआदिदर्जकरें

4.इसकेबादसेवबटनपरक्लिककरेंऔरई-पासबनजाएगा.

-2012केविश्वस्वास्थ्यसंगठन(डब्ल्यूएचओ)कीरिपोर्टकेअनुसार,केवलनौमिलियनइकाइयांसालानाएकत्रकीजातीहैं,जबकिआवश्यकता12मिलियनइकाइयोंकीहै।

-अकेलेदिल्लीएनसीआरमेंप्रतिवर्ष100,000इकाइयोंकीकमीकासामनाकरनापड़ताहै।

-दानकिएगएरक्तकाशेल्फ-जीवन35से42दिनहै।हमारेब्लडबैंकोंमेंस्टॉककोफिरसेभरनेकीनिरंतरआवश्यकताहै।

-स्वस्थदाताओंकीआयु18से65वर्षकेबीचहै।

-आंकड़ेबतातेहैंकिभारतमें234मिलियनप्रमुखऑपरेशन,63मिलियनआघात-प्रेरितसर्जरी,31मिलियनकैंसरसेसंबंधितप्रक्रियाएंऔर10मिलियनगर्भावस्थासेसंबंधितजटिलताएंहैंजिनकेलिएरक्तसंक्रमणकीआवश्यकताहोतीहै।

By Finch