“चाहेप्राइमरीस्कूलहोयासेकेंड्रीस्कूलयाहायरस्कूल,येसभीखोलेजानेचाहिए।वास्तवमें,प्राथमिकविद्यालयोंमें10वर्षसेकमआयुकेबच्चेहोतेहैं,औरवेसबसेकमवायरससेसंक्रमितहोतेहैं।हालांकि,बच्चोंकेआस-पासमौजूदसभीवयस्कोंकोटीकालगाकरउनकेलिएएकसुरक्षितवातावरणबनायाजानाचाहिए,”NTAGIप्रमुखनेकहा,“स्कूलोंकोखोलनेकेलिएजरूरीहैकिबच्चोंकेआस-पासकावातारणउनकेलिएसुरक्षितबनायाजाए।”

यहभीपढ़ें-दिल्लीमेंस्कूलोंकोखोलनेकासुझाव,हरियाणामेंकक्षा4/5केलिए1सितंबरसेखुलेंगेस्कूल

NTAGIप्रमुखनेकहाकिस्कूलोंमेंसभीशिक्षकों,स्टाफ,बसड्राइवरयाऔरजोभीबच्चोंकेसम्पर्कआताहोउसकाटीकारणहोनाचाहिएताकिबच्चोंकेचारोंतरफएकसुरक्षात्मकघेरामौजूदरहे।NTAGIप्रमुखकेअनुसार,गंभीरसंक्रमणऔरमृत्युकीसंभावनालगभगनगण्यहै।उन्होंनेकहा"बच्चेकभी-कभीवायरसकोप्रसारितकरनेकावाहनबनजातेहैं।हालांकि,यदिहमएकसुरक्षित,वायरसमुक्तवातावरणबनातेहैं,तोसंक्रमणकेप्रसारकोकमकियाजासकताहै।"

यहभीपढ़ें-झारखंडमें1से8वींतककीकक्षाकेलिएजल्दखुलसकतेहैंस्कूल,कोविड-19मामलेघटनेसेसरकारकररहीहैविचार

By Ellis