नईदिल्लीबुधवारकोशिक्षकदिवसकोदेशकेहजारोंप्राइवेटस्कूलोंकेशिक्षिकोंनेप्रतीकात्मकरूपसेकालेदिवसकेतौरपरमनाया।राज्य,सीबीएसईऔरआईसीएसईबोर्डसेमान्यताप्राप्तइनस्कूलोंकाआरोपहैकिसरकारीएजेंसियोंद्वाराउनकाउत्पीड़नकियाजारहाहैऔरकईबारस्कूलोंमेंकिसीदुर्घटनायावारदातकीस्थितिमेंशिक्षकोंकोआरोपीबनायाजाताहै,जोसरासरगलतहै।नैशनलइंडिपेंडेंटस्कूलएलायंस(एनआईएसए)केराष्ट्रीयसंघनेइससंबंधमेंप्रधानमंत्रीकोज्ञापनभीभेजाहै।प्रेसवार्ताकोसंबोधितकरतेहुएएनआईएसएकेराष्ट्रीयअध्यक्षकुलभूषणशर्मानेशिक्षकोंकीसुरक्षासुनिश्चितकरनेकेलिएशिक्षकसंरक्षणअधिनियमकीमांगकी।उन्होंनेकहाकिभारतमेंशिक्षकोंकासम्मानबचानाआवश्यकहोगयाहै।कुलभूषणशर्माकाकहनाथाकिहमडॉ.राधाकृष्णनजयंतीऔरशिक्षकदिवसकाजश्नकैसेमनासकतेहैं,जबशिक्षकोंकीअच्छीखासीसंख्यासलाखोंकेपीछेहै।इसविरोधमेंदिल्ली,यूपी,एमपी,बिहार,असम,नगालैंड,राजस्थान,गुजरात,कश्मीर,हिमाचल,पंजाब,हरियाणा,चंडीगढ़,महाराष्ट्र,तेलंगाना,आंध्रप्रदेश,केरल,तमिलनाडुकेस्कूलोंनेभागीदारीकी।शिक्षकोंऔरकर्मचारियोंनेब्लैकफ्लैगकेसाथकालेरिबनपहनकरस्कूलोंऔरबसोंमेंकामकिया।एनआईएसएनेस्कूलोंकीस्वायत्तताऔरशिक्षकोंकीगरिमाकोबहालकरनेकेलिएप्रबंधनऔरप्रधानाध्यापकोंकीउचितजांचसेपहलेगिरफ्तारीनहींकिएजानेकीमांगकी।उनकीयहभीमाँगकीकिकोईस्कूलबंदनहींहोनाचाहिए।साथहीउन्होंनेकहाहैकिअगरमांगेंनहींसुनीजातीहैं,तोआनेवालेमहीनोंमेंविरोधतेजहोजाएगा।

By Douglas