नयीदिल्ली,दोजनवरी(भाषा)प्रमुखरक्षाअध्यक्ष(सीडीएस)जनरलबिपिनरावतनेशनिवारकोअरुणाचलप्रदेशमेंवास्तविकनियंत्रणरेखाकेनिकटअग्रिमइलाकोंमेंस्थितविभिन्नवायुसेनाअड्डोंकादौराकिया।इसदौरानउन्होंनेपूर्वीलद्दाखमेंभारत-चीनकेदरम्यानलगभगआठमहीनेसेजारीगतिरोधकेबीचइसक्षेत्रमेंभारतकीसंपूर्णसैन्यतैयारियोंकाविस्तृतजायजालिया।आधिकारिकसूत्रोंनेकहाकिजनरलरावतनेअरुणाचलप्रदेशकीदिबांगघाटीऔरलोहितसेक्टरसमेतविभिन्नअड्डोंपरतैनातसेना,आईटीबीपीऔरविशेषसीमांतबल(एसएफएफ)केसैनिकोंसेमुलाकातकीऔरक्षेत्रमेंप्रभावीनिगरानीबनाएरखनेऔरअभियानगततैयारियांबढ़ानेकेवास्तेअभिनवकदमउठानेकेलियेउनकीसराहनाकी।सूत्रोंकेअनुसार,जनरलरावतनेकहाकिऐसी''चुनौतीपूर्णपरिस्थितियों''मेंकेवलभारतीयसैनिकहीसतर्करहसकतेहैंऔरसीमाओंकीसुरक्षाकेलियेहमेशाअपनेकर्तव्योंसेआगेबढ़करकामकरनेकेलिएतत्पररहतेहैं।सूत्रोंनेसीडीएसकेहवालेसेकहा,''भारतीयसशस्त्रबलोंकोउनकेकर्तव्योंकोलेकरदृढ़संकल्परहनेसेकोईचीजनहींरोकसकती।''सूत्रोंनेकहाकिजनरलरावतरविवारकोभीअरुणाचलप्रदेशमेंअन्यप्रमुखअड्डोंकादौराकरकेसुरक्षाहालातकाजायजालेंगे।वास्तविकनियंत्रणरेखा(एलएसी)सेलगेअधिकतरअग्रिमस्थानजबरदस्तशीतलहरकीचपेटमेंहैंऔरवहांतापमानशून्यसेनीचेचलागयाहै।पूर्वीलद्दाखमेंचीनकेसाथचलरहेगतिरोधकेचलतेभारतीयसेनाऔरवायुसेनानेअरुणाचलप्रदेशऔरसिक्किमसमेतएलएसीसेलगेप्रमुखस्थानोंपरतैनातीबढ़ादीहै।इससेपहलेनवंबरमेंसेनाप्रमुखजनरलएमएमनरवणेनेसेनाकीपूर्वीकमानकेविभिन्नअड्डोंकातीनदिवसीयदौराकियाथा।कोलकातामेंस्थितपूर्वीकमानकेमुख्यालयपरअरुणाचलप्रदेशकेसाथ-साथसिक्किमकेसेक्टरोंकीसुरक्षाकीभीजिम्मेदारीहै।

By Edwards