नईदिल्‍ली(स्‍पेशलडेस्‍क)।पृथ्‍वीकोलेकरलगातारवैज्ञानिकवर्षोंसेनई-नईखोजकररहेहैं।जिसपृथ्‍वीपरहमरहतेहैंकरोड़ाेंवर्षपहलेउसकाअस्तित्‍वकैसाथाऔरयहांकावातावरणकैसाथा।इसकेअलावाइससेसुदूरब्रह्मांडमेंक्‍याकुछथाऔरहैइसकोलेकरवैज्ञानिकनई-नईजानकारियांहासिलकरतेरहतेहैं।लेकिनक्‍याआपकोपताहैकिइसपृथ्‍वीकीउत्‍पत्तिकैसेहुईथी।नहींजानतेहैंतोचलिएआजहमआपकोइसकेबारेमेंकुछरोचकजानकारियांदेतेहैं।

अापकोजानकरहैरानीहोगीकिपृथ्वीऔरहमारेसौरमंडलकेअन्यग्रहकीचड़सेबनेविशालकायगोलोंकेरूपमेंपैदाहुएथे।इसकादावावैज्ञानिकोंनेएकनएअध्ययनकेआधारपरकियाजारहाहै।हालांकिअबतकव्यापकरूपसेयहीमानाजातारहाहैकिपृथ्वीऔरअन्यग्रहोंकीउत्पत्तिचट्टानीक्षुद्रग्रहोंकेरूपमेंहुईथी।पृथ्वीकेनिर्माणकेसंबंधमेंनईधारणानेपुरानीमान्यताओंपरभीसवालखड़ेकरदिएहैं।

कैलिफोर्नियाकीकर्टिनयूनिवर्सिटीकेशोधकताओंनेकहाकिहमारेसौरमंडलमेंकईमूलखगोलीयपिंडोंनेसंभवत:असलमेंचट्टानीक्षुद्रग्रहोंकेरूपमेंजीवनकीशुरुआतनहींकी।इनशोधकर्ताओंकीमानेंतोअध्ययनमेंयहपायाकिअपनेआरंभकेसमयपृथ्वीसमेतअन्यग्रहगर्मकीचड़केविशालकायगोलेरहेहोंगे।कर्टिनयूनिवर्सिटीकेखगोलविज्ञानीफिलब्लैंडनेछोटेग्रहोंकेबारेमेंबेहतरजानकारीहासिलकरनेकेलिएयहशोधकियाथा।यहभीपढ़ें:सिर्फ'नवाज'परहीक्‍योंरोताहैएे'पाक',तेरेयहांतोऔरभीकिस्‍मतकेमारेहैं

छोटेग्रहोंकोमौजूदाग्रहोंकाआरंभिकरूपमानाजाताहै।यूनिवर्सिटीकेवरिष्ठवैज्ञानिकब्रायनट्रैविसकाकहनाहैकिरेडियोसक्रियआइसोटोपकेक्षयसेनिकलीगर्मीसेबर्फपिघलगईहोगी।इसतरहनिकलापानीधूलकेमहीणकणोंमेंमिलगयाहोगाजिससेकीचड़काविशालगोलाबनाहोगा,जोलंबेसमयकेसाथग्रहमेंतब्दीलहोगया।आजइसपृथ्‍वीपरजीवनहै।लेकिनवैज्ञानिकइसकेअलावाभीसुदूरब्रह्मांडमेंऐसेग्रहोंकीखोजकरनेमेंलगेहैंजहांजीवनसंभवहोऔरजहांपरइंसानीबस्तियांबसाईजासकें।

आपकोबतादेंकिजाने-मानेखगोलविदप्रोफेसरस्‍टीफनहॉकिंसनेएकबारकहाथाकिमानवकोजल्‍दहीअपनेलिएब्रह्मांडमेंऐसेनएग्रहोंकीखोजपूरीकरनीहोगी।इसकेपीछेउनकामाननायहहैकिपृथ्‍वीलाखयाकरोड़वर्षबादरहनेयोग्‍यनहींहोगी,लिहाजाइसकाइंतजामहमेंपहलेहीकरनाहोगा।यहांपरआपकोयहभीबतादेनाकाफीदिलचस्‍पहोगाकिवैज्ञानिकलगातारइसबातकीभीखोजकररहेहेंकिशायदइतनेबड़ेब्रह्मांडमेंजहांकरीबसौअरबगैलेक्‍सीहैं,जिनमेंलाखोंयाकरोड़ोंतारेभीहैं,वहांहमहीकेवलनहींहोंगे।

वर्षोंसेइसकोलेकरखोजबीनजारीहैकिशायदहमेंइससुदूरब्रह्मांडमेंकोईओरभीमिलजाए।यहीवजहथीकिवर्ष1977मेंदोवोयाजरस्पेसक्राफ्टपरफोनोग्राफरिकॉर्डरखकरसुदूरब्रह्मांडमेंभेजेगएथे।इनमेंधरतीकेकुछचुनिंदादृश्यऔरआवाजेंथीं।अमेरिकीअंतरिक्षएजेंसीनासाने2008मेंबीटल्सकेमशहूरगानेएक्रॉसदियूनिवर्सकोधरतीसे430प्रकाशवर्षदूरस्थिततारेनॉर्थस्टारतकभेजाथा।इसकामकसदथाकिकोईहमेंशायदसुनसकेऔरहमसेसंपर्कसाधनेकीकोशिशकरे।

हमदूसरेग्रहोंपररहनेवालोंकोएलियनकानामदेतेआएहैं।इनकीखोजमेंवैज्ञानिकवर्षोंसेलगेहुएहैं।लेकिनप्रोफेसरहॉकिंसकामाननाहैकिएलियनहैंतोजरूर,लेकिनइनसेसंपर्कसाधनाखतरनाकहोसकताहै।वहयहभीमानतेहैंकिब्रह्मांडमेंग्रहोंपरहीनहींबल्कितारोंपरभीजीवनसंभवहोसकताहै।आपकोजानकरहैरानीहोगीकिविशालआकाशगंगामेंछिपेहुएतारोंकेकारणउसतारामंडलकेदूसरेग्रहअपनेवास्तविकआकारसेछोटेदिखतेहैं।

इसकेकारणपृथ्वीकेसमानग्रहढूंढ़नेकेलिएचलाएजारहेप्रोग्रामऔररिसर्चअकसरइससेप्रभावितहोतेहैं।पृथ्वीजैसेग्रहकापतालगानेमेंग्रहोंकाघनत्वएकअहमकारकहोताहै।कमघनत्वहोनेसेवैज्ञानिकयहसंकेतपातेहैंकिग्रहगैसोंसेभराहै।यहठीकऐसेहीहोताहैजैसेमौजूदासमयमेंबृहस्पतिहै।वहींघनत्वअधिकहोनेकामतलबहैकिग्रहपृथ्वीजैसाचट्टानीहै।लेकिनकुछरिसर्चमेंयहबातसामनेनिकलकरआईहैकिकुछग्रहपूर्वअनुमानसेकमघनत्वकेपाएगए,औरऐसाउसतारामंडलमेंविद्यमानएकदूसरेछिपेहुएतारेकीवजहसेहुआ।

इसतरहकीरिसर्चमेंकहागयाहैकिनासाकेकेप्लरस्पेसटेलिस्कोपजैसेअत्याधुनिकवेधशालाओंद्वाराभीकईबारपास-पासअपनीकक्षाओंमेंचक्करलगारहेदोतारेतस्वीरोंमेंप्रकाशकेएकबिंदुकीतरहदिखाईपड़सकतेहैं।हालहीमेंभारतीयअंतरिक्षवैज्ञानिकोंकेएकदलनेआकाशगंगाओंकाबहुतबड़ासमूहखोजाहै,जिसकाआकारअरबोंसूर्यकेबराबरहै।इसकानाम‘सरस्वती’रखागयाहै।इंटरयूनिवर्सिटीसेंटरफॉरएस्ट्रोनामीएंडएस्ट्रोफिजिक्सकेमुताबिकयहपृथ्वीसेकरीब400लाखप्रकाशवर्षदूरहैऔरकरीब10अरबवर्षसेअधिकपुरानाहै।

By Farmer