जागरणसंवाददाता,बागेश्वर:शहरोंमेंबढ़तेप्रदूषणकोलेकरकेरलाकाएकयुवकलोगोंकोपर्यावरणसंरक्षणऔरसंवर्धनकेलिएप्रेरितकररहाहै।वे22सितंबरसेबाइकसेभारतकेतमामशहरोंतकपहुंचेहैंऔरभूटानतकउनकालक्ष्यहै।केरलाकेकुच्छीगांवनिवासी42सालकेक्रिष्टीरोडरगॉजमंगलवारकोबागेश्वरपहुंचे।उनकामाउंटेनियरोंनेभव्यस्वागतकिया।एकमुलाकातमेंउन्होंनेकहाकिवे22सितंबर2019सेबाइकयात्रापरहैं।हरी-भरीधरतीकेमिशनपरनिकलेहैं।शहरोंमेंवायुप्रदूषणबढ़रहाहैऔरलोगोंकीऔसतनआयुघटरहीहै।यहपूरेविश्वकेलिएचितनीयविषयहै।ग्लोबलवाíमंगकेचलतेमौसमपरिर्वतनहोरहाहै।केरलमेंइससालपूरेआठमाहतकबारिशरहीऔरदेशकेकईहिस्सोंमेंपानीकीबूंद-बूंदकेलिएलोगतरसरहे।यहजीवनमिलाहैऔरइसेयदिसुरक्षितरखनाहैतोबढ़रहेप्रदूषणकोकमकरनेकेलिएलोगोंकोअभीसेसंघर्षकरनाहोगा।वेपर्यावरणसंरक्षणऔरसंवर्धनकेलिएयहयात्राकररहेहैं।अभीतकवेतमिलनाडू,कर्नाटक,आंध्रा,उड़ीसा,झारखंड,बिहार,यूपी,दिल्ली,पंजाब,हरियाणा,जम्मूकश्मीर,हिमाचल,राजस्थानहोतेहुएउत्तराखंडपहुंचेहैं।कोचीसेनेपाल,बंग्लादेशभूटान,मेनवर्गतकउनकीयात्राकालक्ष्यहै।क्रिष्टीकहतेहैंकिनदी,जंगलसिमटरहेहैंऔरमानवसभ्यताकेलिएयहखतरेकीघंटीहै।धरतीकामौसमचक्रबिगड़गयाहैऔरलोगोंकोजागरूककरवेइसयात्राकोजारीरखेहुएहैं।वेमंगलवारकीरातचौकोड़ीपहुंचेंगेऔरवहांसेआगेकीयात्रातयकरेंगे।

केरलाकेयुवककासंदेश

-हमभीप्रकृतिहैंउसेदूसरापरायानसमझें-जीवनऔररिश्तोंकोबनावटीनबननेदेंउन्हेंसहजबनाएं-भेंटस्वरूपकेवलपौधेलेंऔरदें-परिवारकीहरवर्षगांठपरवृक्षलगाएं,अपनेघरपरसंभवनहींहोतोकहींभीजहांउनकीपरवरिशहोसके-इसकेअलावासुंदरधरतीकोसबकेलिएबेहतरबनानेकेलिएजोभीकरसकतेहैंकरें,ताकिसभीआनंदसेजीसकें

By Evans