संवादसहयोगी,दुनेरा:

गांवगडलगाहलएवंलैहरूनकेपशुपालकोंकोगांवकीपशुडिस्पेंसरीमेंलंबेसमयसेस्टाफनहोनेकेकारणभारीपरेशानियोंकासामनाकरनापड़रहाहै।गांवनिवासीयशपालसिंह,मनवीरसिंह,खुशालसिंह,कुशलसिंह,जसवंतसिंहनेबतायाकिगांवकीपशुडिस्पेंसरीमेंलंबेसमयसेस्टाफनहींहै।गांवकेपशुपालकोंकेलिएडिस्पेंसरीकेबंदहोनेकेकारणपशुओंकोगर्भधारणकेटीके,मुंहखुरबीमारीकेटीकेअन्यबीमारियोंकेइलाजकेलिएनिजीडाक्टरोंकासहारालेनापड़रहाहै।पशुपालकोंनेराज्यसरकारएवंजिलाप्रशासनपरअनदेखीकरनेकाआरोपलगातेहुएकहाकिउन्हेंअपनेपशुओंसेसंबंधितबीमारियोंएवंअन्यसलाहकेलिएनिकटवर्तीहिमाचलप्रदेशकेगांवसुलियालीमेंजानापड़ताहै।पशुओंकोगर्भधारणटीकालगानेकेलिएउन्हेंपांचसे10किलोमीटरकासफरपैदलतयकरकेजानापड़ताहै।जिसकेकारणउन्हेंभारीपरेशानियोंकासामनाकरनापड़रहाहै।उन्होंनेपशुपालनविभागएवंजिलाप्रशासनसेमांगकीकिगांवमेंबनीपशुडिस्पेंसरीकोतुरंतस्टाफमुहैयाकरवायाजाए।

By Edwards