किशनगंज।किसानोंकोपूरकव्यवसायकेरूपमेंपशुपालनकेलिएप्रेरितकियाजारहाहै,जिससेकिकिसानऔरयुवाअपनेगृहक्षेत्रमेंरहकरअपनीआमदनीबढ़ासके।इसकेलिएसमग्रगव्यविकासविभागद्वाराअनुदानितदरपरऋणउपलब्धकरवाएजातेहैं।वर्तमानसमयमेंदोगयाऔरचारगायकीयूनिटकेलिएऋणदिएगएहैं।इसकेअंतर्गतसामान्यश्रेणीकेलोगोंको50फीसदऔरअनुसूचितजाति,अनुसूचितजनजातिऔरईबीसीश्रेणीकेलोगोंको75फीसदअनुदानमिलरहाहै।

वर्तमानसमयमेंपशुओंकेपहचानकेलिएईयरटैगिगकाकामचलरहाहै।अबईयरटैगिगवालेपशुओंकोसरकारद्वाराचलायीजारहीयोजनाओंकालाभमिलेगा।इनमेंटीकाकरण,कृमिनाशकदवापिलानाऔरकृत्रितगर्भाधानशामिलहै।जिलाकेविभिन्नगांवोंमें6.48लाखगायऔरभैंसकाईयरटैगिगहोनाहै।अबतक4.21लाखगायऔरभैसकेईयरटैगिगकाकार्यपूराकरलियागयाहै।शेषबचे2.27लाखपशुओंकाईयरटैगिगकार्यसमयपरपूराकरलियाजाएगा।पशुस्वास्थ्यरक्षापखवाड़ापांचमार्चसेशुरुहै,जो19मार्चतकचलेगा।इसपखवाड़ाकेतहत1,28,100बकरियोंकोपीपीआररोगकाटीकालगायाजानाहै।इसकेलिएसभीप्रखंडमेंप्रखंडस्तरीयनोडलपदाधिकारपीपीआरटीकाकरणमेंलगेहुएहैं।इसकेअंतर्गतकिशनगंजप्रखंडमेंडॉ.अब्दुलमोबिन,पोठियाप्रखंडमेंडॉ.मनोजकुमारभारती,टेढ़ागाछप्रखंडमेंडॉ.गुलाबचंद्रसाहा,दिघलबैंकप्रखंडमेंडॉ.संजीवकुमार,कोचाधामनप्रखंडमेंडॉ.रविनंदनकुमारयादव,बहादुरगंजप्रखंडमेंडॉ.जीवनकुमारसिंह,ठाकुरगंजप्रखंडमेंडॉ.संजयकुमारऔरनगरपरिषदक्षेत्रमेंडॉ.आशीषप्रियरंजनशामिलहैं।कोट-जिलामेंपशुपालनकीअपारसंभावनाएंहैं।इसजिलाकेसभीप्रखंडमेंपशुओंकेचारागाहभीउपलब्धहैं।पशुपालनयहांकेकिसानोंकापूरकव्यवसायकेसमानहै।इससमयपीपीआरटीकाकरणकाकामचलरहाहै।इसकेअंतर्गतकिशनगंजप्रखंडमेंनौहजार,बहादुरगंजमें17हजार,पोठियामें33हजार,ठाकुरगंजमें20हजार,दिघलबैंकमें16हजार,कोचाधामन20हजार,टेढ़ागाछमें12हजारऔरनगरपरिषदक्षेत्रमें1100टीकाकरणकियाजानाहै।डॉ.शंभुनाथझा,जिलापशुपालनपदाधिकारी

By Farrell