महराजगंज:हरसालदीपावलीकेमौकेपरफूटनेवालेपटाखोंसेहोनेवालावायुप्रदूषणनकेवलबच्चोंवबुजुर्गोंकेलिएस्वास्थ्यसमस्याकाकारणबनताहै,बल्किइसकेचलतेघटनेवालीआगजनीकीघटनाओंमेंजानमालकाभारीनुकसानहोताहै।ऐसेमेंजरूरीहैकिदीपावलीपरपटाखोंसेपरहेजकरतराईकेआबोहवाकेसाथ-साथपर्यावरणऔरस्वास्थ्यहानिकोबचायाजाए।

---------दीपावलीकेदिनजलाएजानेवालेपटाखेसेहतवपर्यावरणदोनोंकोहानिपहुंचारहेहैं।दरअसलजबपटाखेजलाएजातेहैंतोइनसेनिकलनेवालेकईप्रकारकेरसायनहवामेंमिलतेहैंऔरहवाकीगुणवत्ताकोकाफीबिगाड़देतेहैं।हमेंअस्पताल,स्कूलआदिस्थानोंपरपटाखानहींछोड़नीचाहिए।

डा.भानूप्रतापसिंह

------पटाखोंमेंमुख्यत:सल्फरकेतत्वमौजूदहोतेहैं।साथहीकईप्रकारकेबाइंडर्स,स्टेबलाइजर्स,ऑक्सीडाइ•ार,रिड्यूसिगएजेंटऔररंगमौजूदहोतेहैंजोरंग-बिरंगीरोशनीपैदाकरतेहैं।यहीसेहतकेसाथपर्यावरणकोनुकसानपहुंचातेहैं।

डा.हरिकेशचौधरीदीपावलीकेदौरानतेजआवाजवालेपटाखोंसेबचें,क्योंकिइसकेप्रयोगसेलोगबहरेहोसकतेहैं।एकआमइंसानकीऔसतनश्रवणशक्ति75डेसिबलकीहोतीहै।120डेसिबलसेअधिकध्वनिइंसानकेबहरेहोनेकीआशंकाउत्पन्नहोजातीहै।इसलिएतेजआवाजकेपटाखेसेबचनाचाहिए।

----------आतिशबाजीकरनेवालेलोगोंकोयहनहींपताचलताहैकिकितनेलोगोंकोइसदौरानसांसलेनेमेंतकलीफहोतीहै।कितनोंकोहार्टअटैककाखतरारहताहै।हमारेआस-पासबहुतसेलोगोंकोइसकीआवाजसेदिक्कतहोतीहै।हमेंपर्यावरणकेसाथउनकाभीध्यानरखनाचाहिए।डा.अनिलकुमार

By Duncan