लेकिनहांइतनातोजरूरहैकिहॉलटिकटजारीहोनेकेसाथछात्रोंकोराहतमिलीहैकिपरीक्षाएंअपनेतयशेड्यूलकेमुताबिकआयोजितकीजाएगी।वहींइसबारेमेंमीडियारिपोर्टमेंयूनिवर्सिटीकेनियंत्रकमहेशकाकड़ेसेपूछागयाकिपरीक्षाकाटाइमटेबलअभीतकजारीक्योंनहींकीगईहै,तोउन्होंनेकहा,“हमप्रोफेसरोंसेएकप्रश्नबैंकप्राप्तकरनेकीप्रक्रियामेंहैं।एकबारइसेअंतिमरूपदेनेकेबादहीहमपरीक्षातिथियांनिर्धारितकरसकतेहैं।उन्होंनेमीडियारिपोर्टमेंबतायाकिपूरा100प्रतिशतकामपूराहोनेसेपहलेशेड्यूलजारीकरनासहीनहींहै।

इसपरीक्षामेंविभिन्नकॉलेजोंकेकुल3.64लाखछात्रयूनिवर्सिटीसेसंबद्धहैं।इनमेंसे2.23लाखछात्ररेग्यूलरछात्रहैं,बाकीअन्यस्टूडेंट्सहैं।वहींइससालकोरोनावायरसमहामारीकेकारणऑनलाइनपरीक्षाएंआयोजितकीजारहीहैं।वहींमीडियारिपोर्टकीमानेंतोस्टूडेंट्सप्रश्नबैंकअभीतकजारीनहींहोनेकीवजहसेपरेशानहैं। इसबाबतवाइस-चांसलरडॉ.नितिनकर्मलकरनेकहाकियूनिवर्सिटीअथॉरिटीनेपहलेहीप्रश्नबैंककेकामका60प्रतिशतपूराकरलियाहैऔरयहजल्दहीपूराकरलियाजाएगा।

By Douglas