गढ़वा:अबलोगोंकोघरोंमेंरहकरकोरोनाकोमातदेनेकीचुनौतीहै।शहरकेगणमान्यलोगोंनेइसकीशुरूआतभीकरदीहै।वहपूरादिनअपनेघरमेंरहकरसमयव्यतीतकररहेंहैंतथालोगोंकोभीलॉकडाउनकाअनुपालनकरनेकासंदेशदेरहेंहैं।इनमेंसेकुछलोगोंनेघरमेंरहकरपुस्तकलेखन,पौधासंरक्षणसमेतअन्यकार्योंकीशुरूआतकरदीहै।इनमेंसेकुछलोगोंकीकहानीउन्हींकीजुबानी।-

मैंघरपररहकरलॉकडाउनकेसाथहूं।घरकेलंबितकार्योंकानिष्पादनकररहाहूं।साथहीलोगोंकोलॉकडाउनकेसंबंधमेंसोशलमीडियाकेमाध्यमसेजागरूकभीकररहाहूं।समयकासुदपयोगकरनेकासबसेअच्छातरीकापुस्तकोंकाअध्ययनहै।इसलिएमैंअपनीपसंदकीचुनिदापुस्तकोंकोपढ़करसमयबीतारहाहूं।इसभागमभागकेदौरमेंबहुतकमसमयपरिवारकेसाथबीतानेकामौकामिलताहै।परिवारकेसदस्योंकेसाथविभिन्नमुददोंपरचर्चाहोरहीहै।

अलखनाथपांडेय,अध्यक्षजिलापब्लिकस्कूलसमन्वयसमिति-

सुबहयोगकरनेकेबादपौधोंकीदेखरेखमेंसमयबीतरहाहै।पौधेपर्यावरणकेमददगारहैं।इनकीबदौलतहीहमारीधरतीसुरक्षितहै।इसलिएपौधोंकीदेखभालकरनाहमाराकर्तव्यहै।लॉकडाउनसेहीसहीहमेंघरमेंरहकरबेहतरकरनेकामौकामिलाहै।पौधोंकीदेखरेखकरनेमेंसमयव्यतीयहोरहाहै।साथहीकुछअच्छाकरनेकाअनुभवभीमिलरहाहै।कोरोनासेजंगजीतनेकेलिएसभीकोइसकाअनुपालनकरनाचाहिए।

ओमप्रकाशतिवारी,समाजसेवी-

मैंस्वयंइसकाअनुपालनकररहाहूं।घरपरहीसमयबीतारहाहूं।दिनकीशुरूआतयोगाकेसाथकररहाहूं।योगासेतनवमनकोनईउर्जामिलतीहै।इसकेबादपौधोंकीदेखरेखमेंसमयबीतारहाहूं।पुस्तकोंकाअध्ययनकरनेमेंभीमजाआरहाहै।लोगकोरोनासेजंगजीतनेकेलिएघरोंमेंहीसमयबिताएं।

ओमप्रकाशकेशरी,भाजपाजिलाध्यक्ष-

हमलोगपूरेपरिवारकेसाथघरमेंरहरहेंहैं।घरपरसमयबीतानाकठिनहैमगरइसमेंकिसीप्रकारकीबोरियतनहींहोइसकेलिएमैंनेपुस्तकलेखनशुरूकरदियाहै।जबतकघरमेंरहूंगा।लेखनकाकार्यकरूंगा।साथहीविभिन्नप्रकारकीपुस्तकोंकाअध्ययनकरसमयव्यतीतकररहाहूं।बच्चोंकेसाथविभिन्नविषयोंपरचर्चाकरनेमेंभीआनंदआरहाहै।लोगलॉकडाउनकेदौरानसमाजकीबेहतरीकरनेकाकार्यकरेंतथासमयकासदुपयोगकरें।

मदनप्रसादकेशरी,निदेशकज्ञाननिकेतनस्कूलनगरपरिषदअध्यक्षपिंकीकेशरीआमदिनोंमेंकामकाजकोलेकरकाफीव्यस्तरहतीहैं।लेकिनलॉकडाउनकेकारणवहभीघरोंमेंलॉकहोचुकीहैं।पिंकीकेशरीपरिवारकेलिएघरमेंखानाबनारहीहैं।पिंकीनेकहाकिबहुतदिनोंकेबादपरिवारकेसाथखानाबनानेऔरसाथरहनेकामौकामिलाहै।हालांकिवहघरमेंरहकरभीकोरोनावायरसकोलेकरशहरकीसाफ-सफाईकोलेकरजागरूकहैं।लगातारदिशा-निर्देशदेरहीहैं।

By Farmer