सीएमयोगीनेआगेकहाकि,'मैंनेउनसेकहाकिआपमुस्लिमहोनेकेबावजूदराम,सीतायाहनुमानबने।उन्होंनेकहाहमारेयहांरामकोलोगबड़ीश्रद्धाकेसाथपूजतेकरतेहैं।हमारामजहबकुछभीहोलेकिनहमपूर्वजनहींबदलसकते।इसपरमैंनेकहाकीअगरभारतकेअंदरकोईऐसाकरतातोयहांतोफतवाजारीहोगयाहोता।'सीएमयोगीनेआगेबताया,'उनकलाकारोंनेकहाकिरामहमारेपूर्वजहैं,इस्लामहमारामजहबहै।मजहबपरिस्थितीकेहिसाबसेबदलताहैलेकिनपूर्वजनहींबदलसकते।हमाराजोलहूहैवहरामकीपरंपराकाहै।इंडोनेशियामेंगणेशकीमुद्राऔरगरुड़केनामपरविमानचलतेहैं।कोईभीहमेंरामसेअलगनहींकरसकता।'

इससेपहलेसीएमयोगीभारतरत्नअटलबिहारीवाजपेयीकीजयंतीकीपूर्वसंध्यापरकेजीएमयूकन्वेंशनसेंटरमेंआयोजित"अटलस्मृतिकाव्यसंध्या"कार्यक्रमकोसंबोधितकररहेथे।कार्यक्रमकोसंबोधितकरतेहुएकहा,'अटलएककविथे।एकसाहित्यकारथेऔरसाहित्यसेराजनीतिमेंआएथे।कविहृदयराजनेताकेलिएयहउपयुक्तश्रद्धांजलिहै।'वर्ष1957मेंउन्होंनेराजनीतिमेंकदमरखाऔरवर्ष2006तकसक्रियरूपसेराजनीतिकोप्रभावितकिया।अटलसबकेप्रियबनेरहे।दलसेऊपरउठकरउनकेप्रतिलोगोंमेंसम्मानकाभावथा।सार्वजनिकजीवनमेंजानेकीइच्छारखनेवालेप्रत्येकनागरिककेलिएअटलकाजीवनअनुकरणीयहोसकताहै।

सीएमयोगीकहाकिअटलबिहारीवाजपेयीनेसदैवप्रेरणादीकिराजनीतिमूल्योंकीहोनीचाहिए,आदर्शोंकीहोनीचाहिए।उनकीस्मृतियांहमेंआगेबढ़नेकेलिएप्रेरितकरतीहैं।अटलकीकविताओंमेंराष्ट्रकेप्रतिजोभीभावहैं,वोआजसाकारहोतेदिखतेहैं।जिसदिनकश्मीरमेंधारा370समाप्तहुई,अटलकीआत्माकोशांतिमिलीहोगीकिउनकासंकल्पपूराहुआ।अपनेमहापुरुषोंकेप्रतिश्रद्धाकाभावसिर्फभाषणोंसेनहीं,व्यावहारिकरूपसेहोनाचाहिए।

येभीपढ़ें:-मिशन2022:जिलोंमें20दिनरहकरकांग्रेसकोमजबूतकरेंगेपदाधिकारी,प्रियंकागांधीशुरूकरेंगीदौरा