खगड़िया।खगड़ियाकृषिप्रधानजिलाहै।यहांकीआर्थिकीकाआधारखेती-पथारीहीहै।रबीकीखेतीपरहीकिसानअपनेसपनेगुनते-बुनतेहैं।क्योंकिमुख्यफसलमक्काऔरगेहूंहै।मक्काकोलेकरखगड़ियाकीप्रसिद्धिदेशस्तरपरहै।मक्कायहांपीलासोनाकेनामसेप्रसिद्धहै।पीलासोनापरहीबेटीकीसगाईऔरबेटेकीपढ़ाईनिर्भरहै।लेकिनरबीकीखेतीपरफिलहालसंकटकेबादलकायमहैं।खाद-बीजकीकिल्लत,खेतोंमेंजलजमावऔरधानकीसरकारीदरपरखरीदारीशुरूनहींहोनेसेकिसानपरेशानहैं।अगरतैयारधानकीसहीकीमतमिले,तोकिसानरबीकीखेतीकरे।हालांकिधानखरीदारीकोलेकरडीएमनेअधिकारियोंकीबैठककरनिर्देशदिएहैं।

रबीकेमौसममेंकितनेहेक्टेयरमेंहोतीहैकिसफसलकीखेतीमक्का:55हजारहेक्टेयरगेहूं:45हजारहेक्टेयरदलहन:पांचहजारहेक्टेयरतेलहन:चारहजारहेक्टेयरदिसंबरतकहोगीमक्काकीबुआईजिलाकृषिपदाधिकारीशकीलअख्तरअंसारीकेअनुसारकिसानमक्काकीबुआईदिसंबरतककरसकतेहैं।जबकिगेहूंकीबुआईकासमय15दिसंबरतकहै।मसूरऔरचनाकीबुआईकिसानसप्ताहभरकेअंदरकरलें।किसानोंकीपरेशानीरबीकीखेतीमेंकिसानोंकोसमयपरखाद-बीजकीउपलब्धताकोलेकरपरेशानीआरहीहै।अमनीपंचायतकेकिसानप्रमोदकुमारसिंहकहतेहैं-पांचहजारहेक्टेयरमेंरबीकीखेतीयहांकीजातीहै।लेकिनसमयपरऔरसहीबीजकीउपलब्धतानहींहोनेसेकिसानोंकोपरेशानीहोतीहै।यहांसौएकड़मेंखेतीकोलेकरमक्का,गेहूं,मसूरऔररैंचाकेबीजकृषिविज्ञानकेंद्रखगड़ियाकीओरसेमुहैयाकराएगएहैं।जलजमावसेभीकिसानपरेशानहैं।सिर्फअमनीमेंही50एकड़मेंजलजमावहै।

आंदोलनकाशंखनादइसकोलेकरबिहारकिसानमंचनेआंदोलनकाशंखनादकियाहै।27नवंबरअर्थातआजबिहारकिसानविकासमंचकीओरसेकिसानोंकीसमस्याओंकोलेकरआक्रोशमार्चनिकालाजाएगा।जिसमेंबड़ीसंख्यामेंकिसानशामिलहोंगे।मंचकेप्रदेशअध्यक्षधीरेंद्रसिंहटुड्डूकहतेहैं-कृषिविभागकिसानोंकीसमस्याओंसेउदासीनहै।किसानमहंगेदरपरखादबीजखरीदनेकोविवशहै।खाद-बीजकीकालाबाजारीहोरहीहै।ऐसेमेंकिसानोंकेसमक्षआंदोलनकेसिवाकोईरास्तानहींबचाहै।कोटकिसानोंकोहरसंभवसुविधामुहैयाकराएजानेकोलेकरकृषिविभागप्रयासरतहै।

शकीलअख्तरअंसारी,जिलाकृषिपदाधिकारीखगड़िया।कोट

समयपरऔरसहीबीजकीउपलब्धतासबसेबड़ीसमस्याहै।अमनीपंचायतमेंपांचहजारएकड़मेंरबीकीखेतीहोतीहै।कृषिविज्ञानकेंद्रकीओरसेसौएकड़मेंखेतीकोलेकरमक्का,गेहूंआदिकेबीजउपलब्धकराएगएहैं।ऊंटकेमुंहमेंजीराकाफोरनकहावतचरितार्थहोरहाहै।

प्रमोदकुमारसिंह,किसान,अमनी।