शाहजहांपुर:रेलवेस्टेशनयाट्रेनमेंघायलहोजाएंयाअचानकतबीयतबिगड़ेतोरेलवेकेडॉक्टरयास्वास्थ्यविभागसेइलाजकीउम्मीदनरखना।शाहजहांपुरस्टेशनपरइलाजकीसुविधाहीनहींहै।ट्रेनमेंचोटलगेतोरेलवेअधिकारीअगलेस्टेशनकेलिएटरकातेहैं।किसीघायल,बीमारकोअस्पताललेजानेकेलिएभीजीआरपीकोइधर-उधरमुंहताकनापड़ताहै।

एकसालसेबिनाडॉक्टरकाअस्पताल

रेलवेकाअस्पतालमालगोदामरोडपरस्थितहै।एकसालसेअस्पतालबिनाडॉक्टरकेहै।केवलएकफार्मासिस्ट,एकड्रेसर,एकअटेंडेंटसहितकुलपांचकर्मचारीहैं।कागजोंपरतोअस्पतालदोशिफ्टमेंसुबहआठसेदोपहरएकऔरशामचारसेछहबजेतकखुलताहै।रेलकर्मियोंकोभीइलाजबाहरकरानापड़ताहै।जीआरपीऔरआरपीएफकेसिपाहीस्टेशनपरकिसीयात्रीकेघायलहोनेपरउसेअस्पतालभेजनेकेलिएटेम्पो,ऑटोतलाशतेहैं।

रोजामेंभीहालातबदतर

रोजास्थितरेलवेअस्पतालमेंप्राइवेटडॉक्टरसंजयरायमरीजदेखतेहैं।लेकिनकोईमहिलाडॉक्टरनहींहैं।यहीडॉक्टरइमरजेंसीमेंशाहजहांपुरबुलाएजातेहैं।किसीमहिलायात्रीकीतकलीफयाप्रसवपीड़ाहोनेपरअन्यमहिलायात्रीयाजीआरपीकीसिपाहीहीआगेबढ़करमददकरतीहैं।इसबाबतरेलकर्मचारियोंकेसंगठननरमूनेकईबारमंडलरेलप्रबंधककोज्ञापनदेकरसमस्याहलकरनेकीमांगभीउठाईहै।जीआरपीभीसीएमओकोपत्रभेजकरएम्बुलेंसकीमांगकरचुकीहै।

रेलवेकेस्वास्थ्यनिरीक्षकत्रिलोकचंदकाकहनाहैकियहांकेअस्पतालमेंडॉक्टरनहींहैं।रोजासेडॉक्टरसप्ताहमेंतीनदिनआतेहै।फिलहालएंबुलेंसभीनहींहै।मंडलकार्यालयकोकईबारपत्रलिखेजाचुकेहैं।

By Dyer