रोहतक[ओपीवशिष्ठ]महर्षिदयानंदविश्वविद्यालयकापरिसरआजकलमुगलगार्डनसेकमनहींदिखरहा।चूंकिविश्वविद्यालयमेंचारोंतरफरंग-बिरंगेफूलोंकीमहकफैलीहुईहै।यहांआनेवालेविद्यार्थियोंवआगंतुकोंकेलिएपरिसरमेंखिलेहुएअलग-अलगकिस्मकेफूलआकर्षणकाकेंद्रबनेहुएहैं।महर्षिदयानंदविश्वविद्यालयमेंविगतवर्षरंगोत्सवकाआयोजनकियाथा,जिसमेंसातदिनतकअलग-अलगरंगदेखनेकोमिलेथे।लेकिनइसरंगोत्सवकाआयोजनकोविड-महामारीकेचलतेनहींहोपाया।

लेकिनविश्वविद्यालयकेबागवानीविभागनेपरिसरकोरंगोंसेइसतरहखिलादियाकिहरकोईइसकाकायलहोरहा।विद्यार्थीपूरादिनयहांसेल्फीलेतेनजरआतेहैं।विद्यार्थीहीनहींबल्किविविकेशिक्षक,कर्मचारीवउनकेपरिवारकेसदस्यभीरंग-बिरंगेफूलोंकीखुशबूऔरआकृर्षणसेखुदकोरोकनहींपाते।विश्वविद्यालयकेहीनहींबल्किबाहरसेभीलोगफूलोंकोदेखनेऔरफोटोग्राफीकरनेपहुंचनाशुरूहोगए।फूलोंकीदुनियामेंरहनेवालेलोगोंकेलिएविश्वविद्यालयएकतरहसेरिसर्चकाकेंद्रबनगयाहै।

25किस्मकेफूलोंकाखिलाविश्वविद्यालय

विश्वविद्यालयमेंसभीप्रमुखरास्तोंकेबीचवसाइडोंमेंफूलोंकेपौधेलगाएगएहैं।एमडीयूबागवानीविभागकेएसडीओबलजीतसिंहनेबतायाकिविश्वविद्यालयमें25किस्मकेफूलोंकेपौधेलगाएगएहैं।फ्लक्स,पिट्यूटिया,स्वीटविलम,पैंसी,लर्कसपुर,कैनडांडा,साल्विया,डायनथस,सैक्रान्थस,नीमेज़िया,स्टॉक,जाफरीगेंदा,एलिसिन,अल्‍ट्रान,अनैनिअमेर,मैरिजगोल्डड्वार्फ,नेस्टेशियम,ग्लाडुल्लियस,धलिया,आइसफ्लावर,पेपरफ्लावर,होलियोक,देसी,पल्टीकलररोजशामिलहै।

खुदतैयारकिएबीज:बलजीत

बागवानीविभागकेएसडीओबलजीतसिंहनेबतायाकिएकभीपौधाबाहरसेनहींखरीदागयाहै।सभीपौधेविश्वविद्यालयकीनर्सरीमेंहीतैयारकिएगएहैं।खुदहीइनफूलोंकाबीजतैयारकियागया।फूलोंकीफिलहाल25किस्महै,लेकिननईकिस्मकेपौधेभीतैयारकिएजारहेहैं।इनकीदेखरेखकेलिएअलगसेकर्मचारियोंकीतैनातीकीगईहै।यहआइडियाकुलपतिप्रो.राजबीरसिंहनेदियाथा।

By Evans