रोहतासमेंराजकीयमध्यविद्यालय(भेड़िया)कीशिक्षिकाकापहलीकक्षाकेबच्चोंकोपढ़ानेकाअनोखाअंदाजलोगोंकोबहुतपसंदआरहाहै।कोरोनाकालमेंलंबेसमयतकस्कूलबंदरहनेकेकारणबच्चेअक्षरतकभूलगएहैं,इसलिएरोचकढंगकीहोनेवालीपढ़ाईसेनाकेवलउनमेंपढ़ाईकेप्रतिरुचिजगरहीहैफिरपाठभीयादहोरहाहै।

प्रशिक्षितशिक्षिकानंदनीकुमारीबतातीहैंकिउन्होंनेयहमहसूसकियाकिकोरोनाकालकेबादस्कूलपहुंचेबच्चोंमेंपढ़ाईकोलेकररुचिघटीहै,इसलिएउन्होंनेखेलोऔरसीखोविधिसेबच्चोंकोपढ़ानाशुरूकिया।देखागयाकिबच्चेकाफीउत्साहकेसाथइसमेंभागलेरहेहैंऔरअक्षरकोभीफिरसेसीखरहेहैं।क्लासरूमसेबाहरगीतकेसाथ-साथबच्चेपढ़ाईकोपसंदकररहेहैं।बच्चेयेलाइनबार-बारदोहरारहेहैं,"निशाचली,चलतीरही,घरनामिला,'ठ'मेंरुकी"।यहीनहींउन्हेंबालूदेकरभीअक्षरोंकोलिखनेकोदियागया,तोइसकारिस्पांसभीअच्छामिलरहाहै।

बतायाकिवेमध्यविद्यालयकीशिक्षिकाहैंपरंतुप्राथमिकविद्यालयकेबच्चोंकोपढ़ातीहैंऔरशिक्षणकेनए-नएप्रयोगकरतीहैं।कक्षामेंलगभग40बच्चेहैंजोपढ़ाईकेइसतरीकेकोबहुतपसंदकरतेहैं।नंदनीइतिहासकेसाथ-साथशिक्षामेंभीमास्टरडिग्रीएमएहैं।साथहीबीएडभीहैं।कहाकिशिक्षाशास़्त्रकीपढ़ाईमेंप्रायोगिकशिक्षाकाबच्चोंपरप्रयोगकरनेपरइसकासकारात्मकअसरपड़ताहैं।कोरोनाकालकेबादजबस्कूलखुलेहैंतोबच्चोंकीसंख्याबढ़ीहै,इसेबनाएरखनेकेलिएजरूरीहैकिशिक्षाकोरोचकबनायाजासके।

By Dyer