जागरणसंवाददाता,बस्ती:जिलेकाप्रमुखपर्यटनस्थलभद्रेश्वरनाथधामगंदगीऔरबदइंतजामीकाशिकारहै।चारोंतरफगंदगीकाअंबारलगाहैं।रोशनीकेलिएलगाएगएअधिकांशसोलरलाइटकीबैट्रीगायबहैं।एकपोलपरपरतोबल्बऔरबैट्रीदोनोंगायबहैं।डेढवर्षपूर्वपर्यटनविकासकेनामपरयहां67लाखरुपयेखर्चकिएगएथे।इसकेबादभीयहांसमस्याएंजसकीतसबनीहुईहैं।

लाखोंश्रद्धालुओंकीआस्थाकेकेंद्रभद्रेश्वरनाथधामकोविकसितकरनेकेलिएपर्यटनविभागकोडेढ़वर्षपूर्व67लाखरुपयेमिलेथे।इसधनराशिसेमंदिरकेचारोंतरफइंटरलाकिगपरिक्रमामार्ग,नालीनिर्माण,सार्वजनिकशौचालय,आठसोलरलाइट,10बेचबनवाएजानेथे।कार्यदायीसंस्थानेयहसभीकार्यकिए,मगरमानकऔरगुणवत्ताकाध्याननहींदियागया।आठसोलरलाइटेंलगींमगरउनमेंसेआजएकभीनहींजलती।सातमेंबैट्रीहीनहींहैतोएककाकेवलपोलहीखड़ाहै।मंदिरकेपरिक्रमामार्गपरलगवाएगएसोलरलाइटअबशोपीसबनेहुएहैं।रातमेंमंदिरकेचारोओरअभीभीअंधेरारहताहै।वहींनिर्माणकेबादसेआजतकसार्वजनिकशौचालयकातालाहीनहींखुला।ऐसेमेंउनकेनिर्माणकीमंशाधरीकीधरीरहगई।मंदिरपरिसरमेंसफाईकर्मीकीतैनातीनहोनेसेचारोतरफकूड़ाकरकटफैलाहुआहै।मंदिरपरिसरमेंलगे20हैंडपंपसूखेपड़ेहैं।मंदिरकेकिनारेकिनारेबनाईगईनालियांभीजामहुईंहैं।

पर्यटनविकासकेनामपर67लाखरुपयेखर्चहोनेकेबादभीयदिसोलरलाइटनहींजलरहेहैं,सार्वजनिकशौचालयतालेमेंबंदहैतोयहगंभीरबातहै।जल्दहीखुदमौकेपरजाकरइसकीजांचकरेंगे,जोभीदोषीमिलेगा,उसपरकार्रवाईकीजाएगी।डा.राजेशकुमारप्रजापति,मुख्यविकासअधिकारी

By Duncan