राज्यब्यूरो,कोलकाता। कोलकाताकाकालीघाटइलाकासिर्फकालीमंदिरकेलिएविख्यातनहींहैबल्किवहांहोनेवालीउसकालीपूजाकेलिएभीजानाजाताहै,जिसकाआयोजनबंगालकीवर्तमानमुख्यमंत्रीऔरतृणमूलकांग्रेससुप्रीमोममताबनर्जीतीनदशकोंसेभीअधिकसमयसेकरतीआरहीहैं।

ममतामांकालीकीपरमभक्तहैंऔरकालीपूजापरसारेप्रशासनिकवराजनीतिकक्रियाकलापभूलकरउनकीआराधनामेंलीनरहतीहैं।बहुतकमलोगोंकोपताहैकिममताकेघरहरसालविराजमानहोनेवालीकालीप्रतिमाबंगालमेंमूर्तिनिर्माणकलाकेकेंद्रबिंदुकुम्हारटोलीसेनहींबल्किकालीघाटइलाकेसेहीआतीहै।इसकानिर्माणकालीघाटकेपटुआपाड़ाकेरहनेवालेवरुणपालकरतेहैं।

प्रतिमानिर्माणमेंबड़ेभाईअरुणवरुणकासहयोगकरतेहैं।वरुणपेशेसेरेलकर्मीहैं।कालीपूजाकेपहलेवेप्रतिमानिर्माणकेलिएछुट्टीलेलेतेहैं।प्रतिमानिर्माणकाकामउनकेपरिवारमें तीनपीढ़ियोंसेचलाआरहाहै।इसकीशुरुआतउनकेपूर्वजफकीरचंद्रपालनेकीथी।उसकेबादअमरनाथपालनेयहकामसंभालाऔरसाढ़ेतीनदशकपहलेउन्होंनेममताकेघरकेलिएकालीप्रतिमागढ़नाशुरूकियाऔरअबउनकेबेटेवरुणइसपरंपराकानिर्वहनकररहेहैं।अमरनाथकेतीनपुत्रहैं-वरुण,अरुणऔरजगदीश।

प्रतिमानिर्माणकाकाममुख्यरूपसेवरुणहीकरतेहैंजबकिबड़ेभाईअरुणइसमेंउनकासहयोगकरतेहैं।पताचलाहैकिममताकेकहेअनुसारहीकालीप्रतिमाकानिर्माणकियाजाताहै।ममताप्रतिमानिर्माणकेसमयइसकीपूरीजानकारीलेतीहैऔरजरूरीनिर्देशदेतीरहतीहैं।कालीपूजाकेदिनपहलेबड़ीसंख्यामेंराज्यकेमंत्री-नेताममताकेघरआयाकरतेथेलेकिनइसबारकोरोनामहामारीकेकारणऐसासंभवनहींहोपायाहै।

By Field