-ग्रामीणक्षेत्रोंमेंदिनमेंबमुश्किलमिलरहीदोसेतीनघंटेबिजली

-आलूफसलकीसिचाईनकरपानेसेकिसानपरेशान

संवादसूत्र,कसावा:साहब!बिजलीनमिली,तोफसलसूखजाएगी।पहलेपानीसेफसलबर्बादहोचुकीहै।अबबिजलीकटौतीकीभेंटचढ़जाएगी।

येकहनाहैगांवकसावानिवासीकिसानरामनाथशंखवारका।जागरणटीमबिजलीमिलनेकीस्थितिजाननेनिकलीथी।बतायाकिसुबहसेहीबिजलीकाइंतजारकरनेलगतेहैं।कईबारफावड़ालेकरदिनमेंघंटोंखेतकिनारेबैठेरहतेहैं।बिजलीआतीहैतोपानीलगानेकीउम्मीदजगतीहै।कभीएकघंटेतोकभीआधेघंटेमेंहीचलीजातीहैं।दिनभरबिजलीकेइसीआनेजानेमेंबीतजाताहै।फसलकीसिचाईनहींहोपातीहै।वहींकुछदूरीपरकसावाकेहीसुरेशराठौरभीफावड़ालिएखेतमेंखड़ेथे।वहखेततकपानीपहुंचानेकेलिएबरासहीकररहेथे।बतायाकिचारदिनपहलेपानीलगनाथा।बिजलीनआनेकीवजहसेलोगोंकीसिचाईनहींहोपारहीहै।ऐसेमेंसबमर्सिबलपंपसेपानीउपलब्धनहींहोपारहाहै।अधिकारियोंकोकिसानोंकेहितकेलिएदिनमेंकमसेकमआठसेनौघंटेआपूर्तिदेनीचाहिए।इससमयरातमेंलगातारबिजलीआरहीहै।आलूकीफसलमेंरातकोपानीनहींलगायाजासकताहै।येदोकिसानहीनहींबल्किक्षेत्रकेअधिकांशकिसानइससमयदिनकीबिजलीकटौतीसेपरेशानहैं।सभीकोपानीनमिलनेपरफसलप्रभावितहोनेकीचितासतारहीहै।बिजलीविभागकेअधिकारियोंसेदिनमेंआपूर्तिसुनिश्चितकराएजानेकीमांगकीहै।

-------------ग्रामीणक्षेत्रोंको18घंटेबिजलीआपूर्तिदीजानीहै।इसमेंशासनकेनिर्देशानुसारशामछहबजेसेसुबहछहबजेतककटौतीनहींहोनीहै।इसकीवजहसेदिनकेसमयमेंहीछहघंटेकीकटौतीकीजातीहै।छहघंटेआपूर्तिदेनेकेनिर्देशहैं।लोकलफाल्टमेंभीबिजलीआपूर्तिबाधितहोतीहै।हालांकि,सभीउपकेंद्रोंकेजेईकोइनछहघंटोंमेंपर्याप्तआपूर्तिदेनेकेनिर्देशदिएगएहैं।नएसिरेसेसमीक्षाकीजाएगी।

-रवींद्रकुमार,अधिशासीअभियंताडिवीजनछिबरामऊ

By Dunn