जागरणसंवाददाता,साहिबगंज:जिलेमेंकोरोनासंक्रमणकादायरालगातारबढ़ताजारहाहै।रोजनयेक्षेत्रोंमेंइसकेप्रसारसेलोगपरेशानहैं।जिलेमेंअबतक129कंटेनमेंटजोनबनचुकेहैं।हालांकिसंक्रमितोंकीसंख्याकेआधारपरजोनघटबढ़भीरहीहैं।कईजोनबंदभीहोगएहैं।आसपासकेजिलोंसेतुलनाकीजाएतोसाहिबगंजजिलेमेंसंक्रमितोकीसंख्याकमजबकिमृतकोंकीसंख्यापांचहोचुकीहै।पासकेगोड्डाजिलेमेंमृतकोंकीसंख्या3है।पाकुड़,दुमका,जामताड़ा,देवघरजिलेमेंभीकमहै।जिलेमेंकुलकोरोनासंक्रमितोंकीसंख्या398है।जबकि172मरीजठीकहोचुकेहैं।पांचकीमौतहोचुकीहै।कोरोनाकादायराबढ़नेकेसाथहीसंसाधनवकोरोनावारिर्यसकीसंख्याबढ़ानेकीचुनौतीभीसामनेआरहीहै।कोविडअस्पतालबढनेपरहोगीमुकम्मलइलाजमेंपरेशानी:जिलेमेंसबसेपहलेशुरुहुएराजमहलकोविडअस्पतालकेबादसंख्याबढ़नेनीसाहिबगंजकेपॉलिटेक्निककॉलेजकोकोविडअस्पतालबनायागयाहै।सदरअस्पतालऔरपतनाकेशीतलअस्पतालमेंभीसंक्रमितोंकोरखनेकाइंतजामहै।परंतुजिलेमेंपर्याप्तडॉक्टरऔरस्वास्थ्यकर्मीकीकमीआड़ेआरहीहै।राजमहलमेंअनुमंडलकोविडअस्पतालमें50बेडकेहिसाबसेचिकित्साकाइंतजामकियागयाहै।साहिबगंजमेंपालिटेक्निककॉलेजकोविडअस्पतालमें100बेडकेहिसाबसेमुकम्मलइलाजकीव्यवस्थानहींरहनेकीशिकायतसंक्रमितकरतेहैं।साहिबगंजमेंसदरकोविडअस्पताल50बेडकाहैइसेबढ़ाकर80बेडकाकरनेकीबातहोरहीहै।जबकिपतनामेंशीतलकोविडअस्पतालमें100बेडकाइंतजामरहनेपरमुकम्मलचिकित्साव्यवस्थाकरनाआसाननहींहोगा।कोरोनासंदिग्धोंसेनिपटनेकीजोहैयोजना:जिलेमेंजिसतादादमेंकोरोनाकेसंक्रमितबढ़रहेहैं।उनकाकोविडअस्पतालमेंइलाजहोरहाहै।स्वस्थहोकरघरलौटरहेहैं।इससेस्वास्थ्यसंबंधीपरेशानीबहुतकमहोगी।इससमयसंक्रमितोंकीसंख्याकेलिहाजसेकोरोनाकेयरवकोविडअस्पतालसहितबेडकीसंख्याहै।विभागकीओरसेबाहरसेरेडजोनसेआनेवालेलोगोंकोसरकारीक्वारंटाइनमेंरखनेकाइंतजामभीहै।परंतुजिनकेघरपररहनेकाअलगइंतजामहै।वहांउन्हेंघरपरहीस्वास्थ्यविभागकेदेखरेखमेंरखाजारहाहै।सहियाकीदेखरेखमेंसंक्रमितरहरहेहैं।चिकित्सकबीचबीचमेंजाकरदेखभालकररहेहैं।परंतुआनेवालेदिनोंमेंसंक्रमितोंकीसंख्याऔरभीबढ़सकतीहै।------------------------------------

साहिबगंजजिलेमेंकोरोनासंक्रमणकेपूर्वसेहीचिकित्सकवचिकित्साकर्मियोंकीसंख्याकमहै।जोउपलब्धहैंउन्हेंलगायागयाहै।संक्रमितोंकीसंख्याबढ़नेपरसीएचसीकेडाक्टरकोलगायाजाएगा।अगरलोगोंमेंजागरुकताआतीहैतोज्यादापरेशानीनहींबढ़ेगी।परंतुकोविडअस्पतालबढ़नेपरदिक्कतहोगी।

डॉ.डीएनसिंह,सिविलसर्जन,साहिबगंज

By Douglas