यशलोकसिंह,गुरुग्राम

जबसेडिजिटलीकरणकादौरशुरूहुआहै,साइबरएवंडाटासुरक्षाकामुद्दाकाफीअहमहोगयाहै।साइबरसिटीदेशकाबड़ाआइटी-आइटीइएसहबहै।वहींयहांदेश-विदेशकीकईबड़ीकंपनियांहैं।इनमेंसेलगभग250कंपनियांफा‌र्च्यून-500कंपनियांहैं।यहसभीसाइबरसुरक्षाकोलेकरकाफीसतर्कहैं।यहीकारणहैकिइसप्रकारकीसुरक्षापरइनकाखर्चभीलगातारबढ़ताजारहाहै।साइबरसुरक्षासेजुड़ेविशेषज्ञोंकाकहनाहैकिआनलाइनडाटाकीसुरक्षाकोलेकरजिसप्रकारसेचिताबढ़तीजारहीहैउसीहिसाबसेसाइबरसुरक्षाकाबाजारभीदिनोंदिनव्यापकहोताजारहाहै।वैश्विकरिसर्चएवंएडवाइजरीकंपनीगार्टनरकेमुताबिकवर्ष2022तकदुनियाकासाइबरसिक्योरिटीबाजार170.4अरबडालरतकपहुंचजाएगा।

एशियापैसिफिकक्षेत्रकीबातकीजाएतोभारत,जापानकेबादसाइबरहमलोंसेपीड़ितरहनेवालादूसरासबसेबड़ादेशबनगयाहै।साल,2020मेंइसक्षेत्रमेंकुलहुएसाइबरहमलोंकालगभगसातफीसदअकेलेभारतमेंहुएहैं।इसबातकीपुष्टिआइबीएमसिक्योरिटीकीरिपोर्टसेभीहोतीहै।भारतमेंजोभीसाइबरहमलेहुएहैंवहसबसेअधिकफाइसेंसऔरबीमाक्षेत्रमेंहुएहैं।वहींमैन्यूफैक्चरिगक्षेत्रकीकंपनियोंपरभीइसप्रकारकेहमलेलगातारहोरहेहैं।यहीकारणहैकिडिजिटलप्लेटफार्मआरहेउद्योगजगतकेलिएभीयहएकबड़ाखतराबनताजारहाहै।इसवजहसेइन्हेंभीअपनासाइबरवडाटासुरक्षापरअपनाखर्चबढ़ानापड़रहाहै।

विशेषज्ञोंकेमुताबिकसाइबरहमलोंमेंरैनसमवेयरकास्थानसबसेऊपरहै।30प्रतिशतसेअधिकसाइबरहमलेइसमाध्यमसेहुएहैं।सर्वरएक्सेसकेजरिएभीदेशमेंसाइबरहमलेबढ़ेहैं।इसनेकंपनियोंकीचिताबढ़ादीहै।साइबरसुरक्षामामलोंकेजानकाररजतश्रीवास्तवबतातेहैंकिकोरोनामहामारीकेदौरानसाइबरहमलेऔरडाटाचोरीकीघटनाएंबढ़ीहैं।ऐसाइसलिएहोरहाहैकिडिजिटलप्लेटफार्मकाअधिकसेअधिकलोगइस्तेमालकरनेलगे।आइटीविशेषज्ञचेतनकाकहनाहैकिकोविडकेदौरानदेशमें68प्रतिशतनेआनलाइनबैंकिग,55प्रतिशतनेअपनीफाइनेंसियलयोजनाएंव63प्रतिशतनेआनलाइनमाध्यमसेखरीदारीकी।ऐसेमेंसाइबरधोखाधड़ीकेमामलोंमेंभीवृद्धिहुईहै।

वैश्विकस्तरपरसाइबरसुरक्षाएकनजरमें

-95प्रतिशतसाइबरधोखाधड़ीमानवीयभूलोंकीवजहसे,यहकहनाहैसाइबरसिक्योरिटीएजूकेशनकंपनीसाइबिटका

-88प्रतिशतप्रतिष्ठानसाइबरफिशिगकाशिकारहुएहैं

-68प्रतिशतबिजनेसलीडरदुनियाभरमेंसाइबरसिक्योरिटीरिस्कसेआशंकितहैं,यहकहनाहैएक्सेंचर

-5प्रतिशतकंपनियांसाइबरहमलोंसेसुरक्षितहैं

-36अरबडालरकीरिकार्डडाटासंबंधीधोखाधड़ीवर्ष2020कीपहलीछमाहीमेंहुईहै

-86प्रतिशतसाइबरधोखाधड़ीफाइनेंशियलमामलोंमेंहुईहैं

-45प्रतिशतमामलेसाइबरहैकिगसेसंबंधितहैं

-17प्रतिशतमालवेयरऔर22प्रतिशतफिशिगकेमामलेगुरुग्रामकेऔद्योगिकक्षेत्रस्थितकंपनियोंद्वाराभीसाइबरसुरक्षाकोलेकरविशेषसतर्कताबरतीजारहीहै।अगरमैंअपनीकंपनीकीबातकरूंतोइसेलेकरखर्चबढ़ाहै।साइबरवडाटासिक्योरिटीकाबाजारभीदिनोंदिनव्यापकहोताजारहाहै।साइबरआतंकवादसेबचावकोलेकरआनलाइनसुरक्षाप्रणालीकोमजबूतकरनाहोगा।

पवनयादव,अध्यक्ष,आइएमटीइंडस्ट्रियलएसोसिएशन,मानेसर

By Edwards