जागरणसंवाददाता,औरंगाबाद:कुटुंबाप्रखंडकेप्राथमिकविद्यालयदेवीनेउरामेंभवनकाअभावहै।भवननरहनेसेछात्रबेचैनरहतेहैं।विद्यालयमेंबच्चोंकोबुनियादीसुविधाउपलब्धनहींहै।हालातयहहैकिसामुदायिकभवनमेंविद्यालयकासंचालनहोरहाहै।सामुदायिकभवनकेएककमरेमें75बच्चेशिक्षाग्रहणकररहेहैं।सर्वशिक्षाअभियानकेतहतविद्यालयोंमेंभवनकीभरमारलगीहैपरंतुयहांभवनकोछात्रतरसरहेहैं।विद्यालयमेंवर्गएकसेपांचतककीपढ़ाईहोतीहै।एककमरेमें75छात्रोंकाभविष्यसंवररहाहै।विद्यालयमेंतीनशिक्षककार्यरतहैं।प्रधानाध्यापकसंजीवकुमार¨सह,गोपालरामएवंनरेंद्रप्रसादनेबतायाकिसामुदायिकभवनकीस्थितिअत्यंतदयनीयहोगईहै।जगह-जगहदरारआगएहै।कभीभीध्वस्तहोसकताहै।भवनकेछतसेपानीटपकतेरहताहै।जानहथेलीपरलेकरबच्चेपढ़ाईकरतेहैं।बरसातकेदिनोंमेंभवनमेंउभरेदरारसांपएवंबिच्छुनिकलतेरहतेहैं।ग्रामीणवार्डसदस्यअजयतिवारी,मदनपासवान,मुन्नाठाकुर,बसंतपाल,शिवपालएवंरीता¨सहनेबतायाकिविद्यालयभवनकेलिएजमीनउपलब्धहै।बावजूदभवनकानिर्माणनहींहोरहाहै।करीब10वर्षपहलेसड़सागांवकेनागेंद्रनारायण¨सहनेबच्चोंकेबेहतरभविष्यकेलिएविद्यालयनिर्माणकोलेकर12डिसमिलजमीनदानकरदियाहै।विभागकीलापरवाहीसेभवनकानिर्माणनहींहोरहाहै।कईबारशिक्षाविभागकोविद्यालयभवननिर्माणकेलिएज्ञापनदियागयापरंतुकोईकार्रवाईनहींहुई।जमीनरजिस्ट्रीके10वर्षबीतजानेकेबादभीविद्यालयमेंबुनियादीसुविधाउपलब्धनहींहोनाकईसवालखड़ेकरदिएहैं।सामुदायिकभवनकेएककमरेमें75बच्चेकैसेपढ़ाईकररहेहोंगेयहसोचनेसेअंदाजालगायाजासकताहै।यहांनतोचापाकलहैऔरनहीशौचालय।जबभवनहीनहींहैतोअन्यबुनियादीसुविधाओंकाबातकरनाबेकारहै।विद्यालयमेंनहींबनतामध्याह्नभोजन

वर्गतीनकेरोहितकुमार,विकासकुमार,चारकीरेश्माकुमारी,अंकित,सुबोधकुमारएवंपांचकीअमितकुमारनेबतायाकिहमेंमध्याह्नभोजननहींमिलताहै।किताबकाअभावहै।एक-दूसरेसेफेरबदलकरकिसीतरहपढ़ाईकररहेहैं।विद्यालयभवननहींरहनेकेकारणसामुदायिकभवनकेएककमरेमेंपढ़ाईकरनापड़ताहै।ठंडकेदिनमेंनीचेबैठकरपढ़ाईकरनेमेंपरेशानीहोरहीहै।चापाकलनहींरहनेकेकारणपानीपीनेकेलिएघरजानापड़ताहै।शौचालयनहींहैजिसकारणपरेशानीहोतीहै।प्रधानाध्यापकसंजीवकुमार¨सहनेबतायाकिमध्याह्नभोजनप्रभारीसेबातकियागयाथा।उनकाकहनाहैकिजबतकविद्यालयभवनकानिर्माणनहींहोजातातबतकमध्याह्नभोजननहींबनसकताहै।बतादेंकिअबजहांमध्याह्नभोजननहींबनपारहाहैवहांएनजीओकेद्वारापहुंचायाजाताहैपरंतुयहांकिसीकाकोईध्याननहींहै।विद्यालयभवननहोनेसेपरेशानी:प्रधानशिक्षक

फोटोफाइल-16एयूआर02

प्रधानशिक्षकसंजीवकुमार¨सहनेबतायाकिविद्यालयभवननहींरहनेकेकारणशिक्षणकार्यमेंपरेशानीहोतीहै।गर्मीमेंएककमरेमेंसभीबच्चोंकोबैठानामुश्किलहोजाताहै।विभागकोइसपरध्यानदेनेकीआवश्यकताहै।नहींसुनतेअधिकारी:रीता

फोटोफाइल-16एयूआर03

देवीनेउरागांवनिवासीरीता¨सहनेबतायाकिविद्यालयभवननिर्माणकेलिएकईसर्वशिक्षाअभियानकोपत्रलिखागयापरंतुकोईकार्रवाईनहींहै।विभागकाचक्करलगाते-लगातेग्रामीणसमेतशिक्षकथकगएहैं।बच्चोंकाभविष्यअंधकारमयहोगयाहै।अधिकारीनिरीक्षणकरनेआतेहैंपरंतुयहांकीस्थितिनहींदिखताहै।10वर्षोंसेहैजमीनउपलब्ध:अजय

ग्रामीणसहवार्डसदस्यअजयतिवारीनेबतायाकि10वर्षपूर्वसेहीविद्यालयभवनकाजमीनउपलब्धहैपरविभागकेद्वारानहींबनवायाजारहाहै।हालातयहहैकिजर्जरसामुदायिकभवनमेंबच्चेपढ़रहेहैं।विद्यालयभवनकाहोनिर्माण:मदन

देवीनेउरागांवनिवासीमदनपासवाननेबतायाकिविभागकीलापरवाहीकेकारणविद्यालयभवनकानिर्माणनहींहोपारहाहै।

विभागशीघ्रभवनकानिर्माणकरेताकिबच्चोंकीहोरहेपरेशानीदूरहोसके।

By Douglas