जागरणसंवाददाता,हापुड़:

जिलेमेंवायुप्रदूषणकास्तरलगातारबढ़ताजारहाहै,लेकिनइसप्रदूषणकोरोकनेकेलिएकोईस्थायीऔरजरूरीकदमनहींउठाएजारहेहैं।मात्रअस्थायीतौरपरकुछसमयकेलिएकदमउठाकरलीपापोतीकरदीजातीहै।यहीकारणहैकिबढ़तेप्रदूषणकाकोईस्थायीसमाधाननहींहोपारहाहै।जिसकारणप्रतिदिनलोगबीमारहोरहेहैं।

बढ़तेप्रदूषणकाएकमुख्यकारणसार्वजनिकपरिवहनकीकमीभीहै।यदिसार्वजनिकपरिवहनकीसुविधाएंबेहतरहोंगीतोलोगनिजीवाहनोंकाइस्तेमालकमसेकमकरेंगे।विशेषकर,ऐसेलोगजोप्रतिदिनदूसरेशहरोंमेंनौकरीऔरव्यापारकरनेकेलिएजातेहैं।उन्हेंमेट्रो,लोकलट्रेनोंऔरबसोंमेंसीटमिलनीचाहिए।समयसेसार्वजनिकपरिवहनकासंचालनहोनाचाहिए।इसकेबादहीलोगोंकाझुकावसार्वजनिकपरिवहनकीओरहोगा।

जबकि,ऐसानहोकरसार्वजनिकपरिवहनकेनामपरलीपापोतीहोरहीहै।बतादेंकिजनपदसेप्रतिदिनकरीब25हजारलोगदूसरेजनपदोंमेंजातेहैं।इनकेमुकाबलेसार्वजनिकपरिवहनकीकमीहै।हापुड़डिपोकेपासमात्र102बसेंहैं।जिनकासंचालनतमामरूटोंपरहोताहै।इनबसोंमेंलोगोंकोखड़ेहोकरयात्राकरनीपड़तीहै।यहीहालट्रेनोंकाभीहै।यहीकारणहैकिलोगसार्वजनिकपरिवहनकाइस्तेमालनकरकेनिजीवाहनोंकारुखकरतेहैं।इसकारणप्रदूषणकास्तरबढ़ताहै।वहीं,लोकलरूटोंपरट्रेनोंकासंचालनहोनाभीबहुतजरूरीचाहिए।

-----यात्रियोंकाहोताहैशोषण--

परिवहननिगमकीबसोंऔरट्रेनोंकोछोड़देंतोबाकीसार्वजनिकपरिवहनमेंयात्रियोंकाशोषणहोताहै।थ्रीव्हीलर,आटोमेंज्यादाकिरायावसूलाजाताहै।इनमेंसुविधाओंकेनामपरकुछनहींमिलताहै।उल्टा,सीटपरप्रतिसवारीभीअधिकलोगोंकोबैठायाजाताहै।इसकारणकईबारदुर्घटनाएंभीहोजातीहैं।

यहकहतेहैंअधिकारी-

नईबसोंकेलिएपूर्वमेंपत्रभेजाजाचुकाहै।जितनीबसेंविभागकेपासहैं,उनमेंबेहतरसुविधाएंदीजातीहैं।यात्रियोंकीसंख्याकेअनुसाररूटोंपरबसोंकासंचालनकियाजारहाहै।

-संदीपनायक,एआरएम