जागरणसंवाददाता,हल्द्वानी:SankashtiChaturthi2022:आनेवाली21जनवरीकोसंकष्टचतुर्थीमनाईजाएगी।यहदिनभगवानगणेशजीकीपूजाकोसमर्पितहै।प्रथमपूज्यकहेजानेवालेगणेशजीपरिवारकीकुशलतावसमृद्धिप्रदानकरनेकेसाथकष्टोंकोदूरकरतेहैं।पर्वकोलेकरबाजारोंमेंतिलकेलड्डुओंकेसाथहीपूजनमेंप्रयोगहोनेवालेअन्यसामग्रियोंकीदुकानेंसजगईहैं।मीरामार्गकेअलावाशहरकेअन्यहिस्सोंमेंदुकानेग्राहकोंकोअपनीओरखींचरहीहैं।श्रीमहादेवगिरिसंस्कृतमहाविद्यालयकेप्राचार्यडा.नवीनचंद्रजोशीनेबतायाकिसंकष्टचतुर्थीश्रीगणेशकेपूजनकापर्वहै।

संकटदूरकरतेहैंभगवानगणेश

वरिष्ठज्योतिषाचार्यडा.गोपालदत्तत्रिपाठीनेबतायाकिइसदिनश्रीगणेशनेदेवताओंकासंकटदूरकरउनकेकष्टदूरकिएथे।भगवानशंकरउन्हेंकष्टनिवारणदेवताहोनेकीसंज्ञाभीदीथी।विवाहितमहिलाएंपरिवारऔरबच्चोंकेऊपरआनेवालेसंकटोंकोदूरकरनेकेलिएसंकष्टव्रतरखतीहैं।चंद्रमाकेपूजनकेइसपर्वकोचंद्रोदयकेसमयकेअनुसारलियाजाताहै।

भगवानगणेशकीपूजाविधि

ज्योतिषाचार्यडा.नवीनजोशीनेबतायाकिघरपरकालतिलसेलड्डूतैयारकरनाचाहिए।दिनभरनिर्जलाव्रतरखनेवालीमहिलाएंरात्रिमेंगणेशजीकेआह्वानकेसाथचंद्रोदयकेसमयपूजनकरतीहैं।पूजनकेदौरानतिलकेबनेलड्डुओंकाभोगचढ़ायाजाताहै।पूजनकेउपरांततिलकेलड्डुओंकेअलावागुड़केबनेरामदाना,लइया,मूंगफलीकेलड्डुओंकेसाथगजककोभीचढ़ायाजाताहै।