आगरा,जागरणसंवाददाता।शारदीयनवरात्रकीशुरुआतमेंअबपांचदिनहीबचेहैं।सातअक्टूबरसेमाताकीआराधनाकापर्वशुरूहोजाएगा।देवीमंदिरोंवघरोंमेंमाताकेस्वागतकोतैयारियांशुरूहोगईहैं।जगह-जगहमाताकादरबारसजेगाऔरमंदिरोंमेंफूलबंगलासजेगा।बाजारमेंदेवीमाताकीमूर्तियांसजगईहैं।श्रद्धालुमूर्तियोंकेलिएआर्डरदेकरबुकिगकरारहेहैं।

शारदीयनवरात्रकीशुरुआतअश्विनमासकेशुक्लपक्षकीप्रतिपदासेहोतीहै।सातअक्टूबरकोप्रतिपदाकेदिनसेनवरात्रकीशुरुआतहोजाएगी।इसबारनवरात्रआठदिनकेहोंगे।ऐसाचतुर्थीतिथिकाक्षयहोनेसेहोरहाहै।तृतीयाऔरचतुर्थीएकदिनमनाईजाएंगी।15अक्टूबरकोदशहरामनायाजाएगा।श्रद्धालुमाताकीआराधनाकीतैयारियोंमेंजुटेहुएहैं।माताकीमूर्तियांशिल्पकारोंनेबनाकरतैयारकरलीहैं।नामनेर,लंगड़ेकीचौकी,सेंट्रलपार्क,आवासविकासकालोनीकेपासमूर्तियांदुकानोंपरसजीहुईहैं।श्रद्धालुमूर्तियोंकीबुकिगकोपहुंचरहेहैं।पिछलेवर्षकीअपेक्षाइसवर्षशिल्पियोंकोरिस्पोंसअच्छामिलरहाहै।मूर्तियां20रुपयेसेलेकरसातहजाररुपयेतककीहैं।

नामनेरकेमूर्तियोंकेथोकविक्रेतासोनूप्रजापतिनेबतायाकिछहइंचसेलेकरसातफुटतकऊंचीमाताकीमूर्तियांशिल्पियोंनेबनाईहैं।महिषासुरमर्दिनीऔरशेरपरसवारदुर्गामाताकीमूर्तिउपलब्धहैं।20रुपयेसेलेकरसातहजाररुपयेतककीमूर्तियांहैं।पिछलेवर्षकीअपेक्षाइसबारअच्छारिस्पोंसग्राहकोंकामिलरहाहै।प्रकृतिसंरक्षणकोदेखतेहुएमिट्टीसेमूर्तियांबनाईगईहैं।आसपासकेशहरोंमेंहोतीहैआपूर्ति

आगरामेंबनाईजानेवालीमूर्तियोंकीआपूर्तिआसपासकेशहरोंमेंकीजातीहै।दिल्ली,मैनपुरी,फर्रुखाबाद,इटावा,फिरोजाबादआदिशहरोंमेंआगरासेमूर्तियांभेजीजातीहैं।बाहरकेआर्डरइसबारकममिलेहैं।

By Duncan