जागरणसंवाददाता,धर्मशाला:शिक्षाकाअसलीमंदिरवहीहै,जहांपीड़ितमानवताकीसेवाहोतीहै।यहबातपूर्वसांसदशांताकुमारनेमंगलवारकोधर्मशालाकेसमीपसराहगांवस्थितटोंगलेनचैरिटेबलट्रस्टकीओरसेझुग्गी-झोपड़ीमेंरहनेवालेबच्चोंकेलिएबनाएगएनएस्कूलभवनकेउद्घाटनअवसरपरकही।

उन्होंनेकहा,भिक्षुजामयांगवास्तवमेंभगवानबुद्धऔरधर्मगुरुदलाईलामाकीशिक्षाओंकेअनुरूपपीड़ितमानवताकीसेवाकररहेहैं।जामयांगबुद्धऔरदलाईलामाकीकरुणाकोसाकाररूपदेरहेहैं।बकौलशांता,निर्धनपरिवारोंकेजिनबच्चोंकोकोईनहींसंभालताथाउन्हेंइसभिक्षुनेअपनाबच्चामानकरअपनायाऔरउनकीशिक्षातथासमग्रविकासकाप्रबंधकिया।पूर्वसांसदनेकहा,वहस्कूलकाउद्घाटनकरनेनहींबल्किमंदिरमेंईश्वरकादर्शनकरनेआएहैं।कहाकिइसभिक्षुनेसंन्यासकोनईपरिभाषादीहै।संन्यासकाअर्थसंसारकोछोड़करएकांतमेंतपस्याकरनानहींबल्किसमाजकेबीचमेंरहकरनिस्वार्थभावसेउनवर्गोकासशक्तीकरणहैजिन्हेंकोईनहींपूछताहै।उन्होंनेसांस्कृतिककार्यक्रमपेशकरनेवालेबच्चोंको21हजाररुपयेदिए।कार्यक्रमकीअध्यक्षताहिमाचलप्रदेशराज्यविकलांगताबोर्डकेसदस्यएवंउमंगफाउंडेशनकेअध्यक्षप्रो.अजयश्रीवास्तवनेकी।इसदौरानउन्होंनेकहाकिवह13सालसेटोंगलेनसेजुड़ेहैं।कहाकिजामयांगनेनसिर्फझुग्गी-झोपड़ीकेबच्चोंकीशिक्षाकाप्रबंधकियाबल्किउनकेस्वास्थ्यऔरवोकेशनलट्रेनिगकाजिम्माभीलियाहै।इसअवसरपरशांताकुमारनेसंस्थाकोसहयोगकरनेवालेकुछलोगोंकोसम्मानितभीकिया।इसदौरानबच्चोंनेसांस्कृतिकप्रस्तुतियोंसेनशेकेखिलाफप्रहारभीकिया।

2011मेंहॉस्टलसेहुईथीशुरुआत

जामयांगनेसराहमें2011मेंझुग्गी-झोपड़ीकेबच्चोंकेलिएहॉस्टलकीशुरुआतकीथी।अबयहांस्कूलचलायाजारहाहैऔरइसमें217बच्चेआठवींकक्षातकनिशुल्कशिक्षाप्राप्तकररहेहैं।स्कूलमेंअत्याधुनिकविज्ञानप्रयोगशालाभीबनाईगईहै।टोंगलेनट्रस्टकेहॉस्टलकाउद्घाटनदलाईलामाऔरशांताकुमारने2011मेंकियाथा।इसमेंझुग्गी-झोपड़ियोंके95बच्चेरहतेहैं।

By Field