संवादसहयोगी,अल्मोड़ा:बढ़तीमहंगाईकाअसरशिक्षापरभीपड़ाहै।स्टेशनरीसमेतस्कूलड्रेस,जूतेवबैगवगैरहपरभीपड़ाहै।कापी-किताबमेंजहां10से20प्रतिशततकमहंगाईबढ़ीहै।वहींड्रेस,जूतेवबैग20प्रतिशततकमहंगेहोगएहैं।ऐसेमेंनिर्धनवमेहनत,मजदूरीकरअपनेबच्चोंकोशिक्षादेरहेलोगोंकोकाफीपरेशानियोंकासामनाकरनापड़रहाहै।ऐसेमेंवहअपनेबच्चोंकेभविष्यकेप्रतिचितितहोचलेहैं।किनवस्तुओंमेंकितनीप्रतिशतवृद्धि

ज्योमेट्रीबाक्स20

जूते12पिछलेवर्षकीतुलनामेंकापी,किताब,ज्योमेट्रीबाक्सवलेखनसामग्रीमें10से30प्रतिशततककीवृद्धिहुईहै।इससेबच्चोंकेअभिभावककाफीसोचनेकेबादहीस्टेशनरीखरीदरहेहैं।वहींरफकार्यकेलिएप्रयुक्तहोनेवालीकापियोंकेदामोंमेंभीबढ़ोतरीहुईहै।

-मनीषअग्रवाल,पुस्तकवस्टेशनरीविक्रेताकापी-किताबकेसाथहीड्रेस,जूतेवबैगकेदामोंमेंबढ़ोतरीसेअभिभावकोंकाबच्चोंकोस्कूलीशिक्षादेनामुश्किलहोगयाहै।एकओरसरकारशिक्षाकोअपनीसर्वोच्चप्राथमिकताओंमेंगिनातीहै।वहींस्कूलपढ़नेकेलिएजरूरीवस्तुओंकीकीमतोंमेंवृद्धिकरदीगईहै।इसदिशामेंसरकारकोगंभीरतापूर्वकसोचनाचाहिए।

-गीतामेहरा,सामाजिककार्यकर्ता,अल्मोड़ा

एकओरसरकारकीओरसेगांव-गांवजाकरस्कूलचलोअभियानचलायाजाताहै।वहींशिक्षाकेजरूरीकापी-किताबवस्कूलड्रेसआदिमहंगीकरदीगईहै।सरकारकोचाहिएकिकापी-किताबोंकेदामकमसेकमहों।जिससेबच्चेआसानीसेशिक्षाग्रहणकरसकें।

-पुष्पातिवारी,गृहिणी,अल्मोड़ा

By Farmer