-खूबपढ़ो-खूबबढ़ो-

-विद्यालयोंमेंबच्चोंकेभविष्यसेखेलरहेशिक्षक

-अफसरोंकीमनमानीसेशिक्षकपढ़ानेमेंनहींदेरहेध्यान

जागरणटीम,बाराबंकी:मुख्यमंत्रीयोगीकीअपीलपरभीबेसिकशिक्षाविभागनहींचेता।स्कूलचलोअभियानकेलिएपठन-पाठनकेप्रतिशिक्षकसजगहोनेकेबजाए,विद्यालयहीनहींपहुंचरहे।नएशैक्षिकसत्रकेतीसरेदिनपरिषदीयविद्यालयोंकीव्यवस्थापुरानेढर्रेपरहीदिखी।शिक्षामित्रोंकेसहारेविद्यालयचलतेमिले।विद्यालयोंमेंपठन-पाठनकीजमीनीहकीकतयहहैकिशिक्षकविद्यालयनआनेकेपीछेअभियानऔरअन्यशासकीयकार्यकाहवालादेते।ज्यादातरविद्यालयोंमेंअध्यापकगायबमिले,तोबिनाकिताबऔरकॉपीपढ़नेआएचंदनौनिहालझाड़ूलगातेदिखे।यहबदरंगतस्वीरप्रदेशकीराजधानीसेचंदकिलोमीटरदूरबाराबंकीजिलेकेत्रिवेदीगंजब्लॉकमेंमंगलवारकोसामनेआई।

तस्वीरएक:प्राथमिकविद्यालयराघवपुरमें10:29बजेएकबच्चाहाथमेंझाड़ूलिएअतिरिक्तकक्षकीसफाईकररहाथा।जैसेदेखावहझाड़ूफेंककरभागनेलगा,अन्यबच्चेखेलकूदमेंव्यस्तदिखे।यहांपरमौजूदमिलेशिक्षामित्रसियारामनेबतायाकिप्रधानाध्यापकअजयभारतीवशिक्षामित्रनीरजगांवमेंअभिभावकोंसेमिलनेगएहैं।यहांपंजीकृत99बच्चोंमेंसिर्फ26हीपढ़नेआए।बच्चेफटीचटाइयोंवजमीनपरबैठतेहैं।

तस्वीरदो:प्राथमिकविद्यालयपूरेकाशीसुबहग्यारहबजेविद्यालयमेंसन्नाटापसराथा।यहांमौजूदप्रभारीरमेश¨सहवप्रियंकानेबतायाकिकुलचारबच्चेहीआजआएहैं,जबकियहांकुल34बच्चेपंजीकृतहैं।

तस्वीरतीन:प्राथमिकविद्यालयजहानपुरमेंशिक्षामित्रपुष्पादेवीवनीतू¨सहमौजूदथीं।प्रधानाध्यापकयशपालचौधरीकिसीकामसेगएहैं।बच्चेलंचकेलिएथालीलेकरजमीनपरबैठेदिखे।

एकशिक्षककेसहारेशिक्षाव्यवस्थाशिक्षाक्षेत्रत्रिवेदीगंजकाप्राथमिकविद्यालयफतेहपुरजमरवा,पूर्वमाध्यमिकविद्यालयफिरोजाबाद,पूर्वमाध्यमिकविद्यालयपोखरा,रांभीआदिविद्यालयोंमेंएक-एकशिक्षकोंकेसहारेमेंविद्यालयसंचालितहोरहेहैं।जबकिरामनगरमेंदोअध्यापककीनियुक्तिहैं।प्राथमिकविद्यालयगौरीमें138परदोशिक्षकहै।यहांबच्चोंकेसंख्याअधिकहोनेकेबादभीशिक्षककमहैं।

यहांमानकदरकिनार:सुलतानपुर-लखनऊहाईवेसेसटेप्राथमिकविद्यालयजगतखेड़ामें53छात्रोंपरपांचशिक्षकतैनातहैं।पूर्वमाध्यमिकविद्यालयहुसेनाबादमें43परसातअध्यापककार्यरतहैं,पूर्वमाध्यमिकविद्यालयजौरासमेंतीनअनुदेशकोंसहितदसशिक्षकोंकीतैनातीहै।यहांशिक्षाविभागकेअफसरोंनेमानकोंकोदरकिनारेकरपो¨स्टगकीगईहै।यहक्षेत्रलखनऊकेनजदीकऔरहाईवेसेसटाहै,तोयहांप्रभावशालीशिक्षकतैनातहैं।

अभिभावकोंकीपीड़ा:अभिभावकशत्रोहनरावतकाकहनाहैकिमेराबेटाआशीषकक्षापांचकाछात्रहै,परंतुउसेकुछभीआता-जातानहींहै।सुरेंद्रचौरसियाकाबेटाकक्षातीनकाछात्रहै,लेकिनपढ़ाईहमारीसमझमेंनहींआरहीहै।निजीविद्यालयलूटरहेहैंतोसरकारीविद्यालयोंमेंशिक्षकबच्चोंकोपढ़ानहींरहे।

By Douglas