संवादसहयोगी,हथीन:

एकतरफतोसरकारशिक्षाकेस्तरबढ़ानेपरजोरदेरहीहै,वहींदूसरीतरफउपमंडलकेदर्जनोंमिडिलस्कूलबिनाशिक्षकोंकेहीचलरहेहैं।कुछस्कूलतोऐसेभीहैं,जहांपरकेवलएक-एकशिक्षकतैनातहैं।

ऐसेमेंबिनागुरुकेछात्रोंकोज्ञानकैसेमिलसकताहै।शिक्षकोंकीव्यवस्थानहींहोनेसेछात्रोंकाशैक्षिकभविष्यरामभरोसेहैं।मिडिलस्कूलोंकेअलावादूसरोंस्कूलोंकीभीस्थितिज्यादाठीकनहींहै।

उपमंडलमें55मिडिल,98प्राइमिरी,आठहाइस्कूलतथा13सीनियरसेकेंडरीस्कूलहै।हालांकिपिछलेदिनोंप्राइमिरीस्कूलोंमेंशिक्षकोंकीनियुक्तिकरसरकारनेकुछहदतकप्राथमिकशिक्षाकास्तरसुधारनेकीकवायदशुरूकी,लेकिनक्षेत्रके55मिडिलस्कूलोंमेंकोईशिक्षकनियुक्तिनहींकिएगए।खंडकेगांवबाबूपुर,भीमसीका,नांगलसभा,टौंका,मोहदमकावअंधरौलामिडिलस्कूलमेंकोईशिक्षकनहींहै,जबकियहांपरसैकड़ोंबच्चेशिक्षाग्रहणकरतेहैं।

इसकेअलावाकन्यामाध्यमिकविद्यालयरूपडाकावमलाईमेंभीकिसीभीअध्यापकअध्यापिकाओंकीनियुक्तिनहींहै।बगैरशिक्षकोकेलड़कियोंकीकैसेपढ़ाईहोगी।इतनाहीनहींखंडकेबूराका,मीरपुर,दुरेंची,स्वामीका,हूंचपुरी,उटावड़,महलूका,गहलब,मालूकावआलीब्राह्मणआदिगांवोंकेमिडिलस्कूलोंमेंमात्रएकअध्यापककेसहारेस्कूलचलाएजारहेहैं।जिनस्कूलोंमेंअध्यापकनहींहैं,वहांनतोपढ़ाईहोरहीऔरनमिडडेमीलकाखानाबच्चोंकोमिलपारहाहै।स्कूलोंमेंहालातयहहैकिबच्चेसुबहपढ़नेआतेहैं,शिक्षकनहींहोनेकेकारणस्कूलमेंखेलकूदकरचलेजातेहै।लोगोंकाकहनाहैकिसरकारबेटीपढ़ाओबेटीबचावकानारादेरहीहै,लेकिनबगैरशिक्षकोंकेबेटीकैसेपढ़ेंगी।

जहांपरशिक्षकोंकीकमीहै,सरकारकोऐसेस्कूलोंकीतरफध्यानदेनाचाहिए,ताकीबच्चोंकीपढ़ाईठीकढंगसेहोसके।

-मुकटखां,संस्थापकमेवातशिक्षामिशन।

क्षेत्रकेस्कूलोंमेंशिक्षकोंकीकमीकोपूराकरनेकेलिएसरकारवविभागकोनियमितभर्तीतकवैकल्पिकव्यवस्थाकरनीचाहिए।

-शाहमुद्दीन,सामाजिककार्यकर्ता।

मिडिलस्कूलोंमेंकमीकोलेकरविभागकोलिखाहुआहै।फिरभीऐसेस्कूलोंमेंजल्दहीवैकल्पिकव्यवस्थाकराईजाएगी।

-अनिलशर्मा,जिलाशिक्षाअधिकारीपलवल।

By Doyle