जागरणसंवाददाता,कानपुरदेहात:कानपुरनगरसे37सालपहलेप्रथकहोकरअस्तित्वमेंआएजिलेकेलोगोंकोअभीतकपरिवहनसमस्यासेनिजातनहींमिलसकीहै।मातीमेंडिपोबनकरतैयारहोनेवप्रभारीमंत्रीद्वाराउद्घाटनकरनेकेआठमाहबीतनेकेबादभीजिम्मेदारोंकीअनदेखीसेइसकासंचालननहींहोसका।इतनाहीनहींमातीबसस्टेशनमेंबसेंनरुकनेतथारोडवेजबसोंकाअधिकांशरूटोंपरसंचालननहोनेसेटेंपोहीप्रमुखसाधनहैं।

जिलेमेंकहनेको970गांवोंमें529गांवसड़ककिनारे,78गांवपक्कीसड़कोंसेएककिमी,258गांवपक्कीसड़कोंसे2किमीदूर,116गांवपक्कीसड़कसे3से5किमीदूरस्थितहैं।बाराकालपीवभौंतीसिकंदराहाईवेकेअलावाराज्यस्तरीयराजमार्गघाटमपुर-सिकंदरामुगलरोडवकल्यानपुर-बेलामार्गहैं।सिकंदरा-बिल्हौर,माती-¨मडाकुआंबायारूरातथारूरा-शिवलीवडेरापुर-मंगलपुर-रूरा-डेरापुर,नवीपुरगजनेर-मूसानगर,रायपुरसरवनखेड़ाआदिप्रमुखमार्गहैं।अधिकांशरूटोंपररोडवेजबसोंकासंचालननहोनेसेयहांटेंपोहीआवागमनकेप्रमुखसाधनहैं।डिपोकेउदघाटनकेआठमाहबादभीनहींखुलाताला

जिलेकीपरिवहनसमस्याकेनिदानकेलिएअक्टूबर2015में439.53लाखकीलागतसेमातीमेंपरिवहननिगमकेडिपोकानिर्माणशुरूहुआथा।कार्यदायीसंस्थासमाजकल्याणनिर्माणनिगमद्वारापिछलेसालडिपोकेभवनकानिर्माणपूराकरादियागया।आधीअधूरीव्यवस्थाकेबीचजिलेकेप्रभारीमंत्रीनेमातीडिपोकाउदघाटनभीकरदियाथा।लेकिनडीजलपंपकीव्यवस्थानहोनेतथाकुछतकनीकीखामियोंकेचलतेइसकासंचालनअधरमेंलटकाहै।मातीबसस्टेशनभीबदहाल

मातीमेंसातसालपहलेबनाबसस्टेशनबदहालीकाशिकारहै।छायाकाइंतजामनहोनेसेयात्रीखुलेआसमानकेनीचेबसोंकाइंतजारकरतेहैं।पानीकेलिएभीयात्रियोंकोभटकनापड़ताहै।25बसोंमेंबमुश्किल3या4बसेंहीरुकतीहैं।जिलेमेंसंचालितहोनेवालीकानपुरमंगलपुर,कानपुरबनीपारा,कानपुर-झींझकवकानपुरसेडेरापुरवनोनारीकेलिएदोदर्जनसेअधिकरोडवेजबसेंबंदकरदिएजानेसेलोगोंकोभटकनापड़रहाहैं।

क्याकहतेहैंजिम्मेदार

मातीडिपोकोचालूकरानेकाप्रयासहोरहाहै।डीजलपंपकाभीनिर्माणजारीहै।डिपोकासंचालनहोनेकेबादजिलेकीपरिवहनसमस्यासमाप्तहोजाएगी।-कपिलदेव,एआरएमफजलगंज

By Dunn