बलरामपुर:नगरक्षेत्रमेंबदहालसड़कोंकीसूरतबदलनेकानामनहींलेरहीहै।जिससेनगरवासियोंकाराहचलनादुश्वारहै।बावजूदइसकेविभागीयअधिकारीधरातलपरउतरनेकानामनहींलेरहेहैं।नगरकेआर्यनगरमुहल्लेसेबरखंडीदासमंदिरकेबगलस्थितशवदाहस्थलजानेकेलिएमुकम्मलसड़कनहोनेसेलोगोंकोपरेशानीकासामनाकरनापड़रहाहै।एकदशकपहलेरामलीलामैदानकेबगलसेबनीपक्कीसड़कटूटकरध्वस्तहोचुकीहै।सड़ककीउजड़ीगिट्टियोंसेलोगोंकेपैरघायलहोरहेहैं।इसीतरहराजाजोतवगोंसाईजोतजानेवालीपक्कीसड़कजर्जरहै।गिट्टियांउजड़जानेसेसड़कपरगड्ढोंकीभरमारहै।जिससेआएदिनराहगीरदुर्घटनाकाशिकारहोरहेहैं।इसीमार्गपरछात्र-छात्राओंकीआवाजाहीरहतीहै।शवयात्रामेंनंगेपांवचलनेवालोंकोखासादिक्कतउठानीपड़तीहै।गंगाराम,अच्छेलाल,धर्मनाथ,तेजनाथ,संजीव,महेशकाकहनाहैकिबदहालसड़कपरआने-जानेमेंकाफीदिक्कतेंहोतीहैं।नगरपालिकाकेअधीनइससड़ककानएसिरेसेनिर्माणकरानेकीजरूरतहै।एसडीएमएकेगौड़काकहनाहैकिसड़ककेनिरीक्षणकेलिएईओकोआदेशदियागयाहै।इस्टीमेटबनाकरशीघ्रसड़कनिर्माणकार्यशुरूकरायाजाएगा।

By Douglas