सीमाभाटीउर्दूपढ़ातीहैंतोहयातकौसरसंस्कृतकीशिक्षिकाहैं।यहलाइनबिल्कुलसहीलिखीगईहै।कहींभीगलतीनहींहै।पढ़नेमेंथोड़ाहैरानीवालालगसकताहै।आखिरहिंदूमहिलाउर्दूकैसेपढ़ासकतीहैंऔरमुस्लिममहिलासंस्कृत?इनदोनोंकीपरवरिशअपनेधर्ममेंहुई।दोनोंनेअपनीभाषाकोहीजिया,लेकिनजबबातसीखने,पढ़नेऔरपढ़ानेकीआईतोदोनोंनेधाराकेविपरीतविषयचुना।सफलताभीहासिलकी।

सीमाभाटीजबउर्दूकीक्लासलेनेपहुंचतीहैंतोपिनड्रॉपसाइलेंसहोताहै

बीकानेरकीरहनेवालीसीमाभाटीसरकारीस्कूलमेंटीचरहैं।जबवेउर्दूकीक्लासलेनेपहुंचतीहैंतोपिनड्रॉपसाइलेंसहोजाताहै।कारण,वेनसिर्फऊर्दूकाहरलफ्जबेहदकरीनेसेबोलतीहैं।बल्किछात्रोंकेजहनमेंउतारनेकीमहारतरखतीहैं।सामान्यस्कूलीपढ़ाईकेबादजबविषयविशेषज्ञताकीबातआईतबसेहीसीमाभाटीनेउर्दूकेप्रतिअपनारुझानदिखाया।

खासबातयहथीकिउनकेपतिचंद्रेशगहलोतभीचाहतेथेकिवोउर्दूमेंएक्सपर्टहों।कईतरहकीपरेशानियांआईं।उर्दूकेकुछविशेषज्ञऐसानहींचाहतेथे,लेकिनकुछमुस्लिमअध्यापकोंनेहीसीमाभाटीकोएक-एकचीजसिखाई।बारीकीसेउर्दूपढ़ी।अबतकहजारोंबच्चोंकोउर्दूपढ़ाचुकीसीमाकहतीहैंकिदुनियाकीसबसेसुंदरऔरशालीनभाषामेंएकउर्दूहै।

हरश्लोककंठस्थहैंमुझे:हयातकौसर

हयातमुस्लिमहैं।अपनेधर्मऔरसंस्कृतिकेप्रतिपूरीतरहनिष्ठावान।जबपढ़नेकावक्तआयातोउन्होंनेसंस्कृतकोचुना।हयातकहतीहैंकिजबमैंछठीकक्षामेंपढ़तीथीतबपहलीबारसंस्कृतपढ़नेकामौकामिला।तबलगाकियहबहुतइंट्रेस्टिंगलैंग्वेजहैं।संस्कृतकेश्लोकमुझेअच्छीतरहसेयादरहनेलगे।मैंसंस्कृतकेहररूपकोबहुतआसानीसेयादकरलेतीथी।बादमेंजबसब्जेक्टचुननेकीबारीआईतोपितामकसूदअहमदनेकहाजोविषयअच्छेसेपढ़सकतीहो,उसेलो।

मैंनेसंस्कृतकीइच्छाजताईतोउन्होंनेहांकरदी।जबबीएडकरनेकावक्तआयातोमैंनेशिक्षाशास्त्रीकाचयनकिया।शिक्षाशास्त्रीकेरूपमेंमुझेसंस्कृतशिक्षकबननाहैयेतयहोगया।पीजीमेंसंस्कृतलीथी।तबइतनीमेहनतइसविषयपरकीथीकिविश्वविद्यालयमेंचौथेस्थानपररहीं।शिक्षाशास्त्रीकरतेहुएविश्वविद्यालयमेंसेकंडटॉपररही।हयातकहतीहैंकिमेरेलिएसंस्कृतविषयकभीभीमुश्किलनहींरहा,क्योंकिमैंनेहमेशाइसेदिलसेपढ़ा।

हयातबीकानेरकेकईप्रतिष्ठितअंग्रेजीमाध्यमकेस्कूलोंमेंसंस्कृतपढ़ाचुकीहैं।वर्तमानमेंभीवोएकनिजीस्कूलमेंसंस्कृतपढ़ातीहैं।हयातकहतीहैमुझेसंस्कृतनसिर्फपढ़नाबल्किपढ़ानाभीबहुतअच्छालगताहै।पतिशादाबभीउन्हेंखूबसपोर्टकरतेहैं,वोस्वयंउर्दूकेहीशिक्षकहैं।उनकाकहनाहैकिआजतकपरिवारयासमाजकेकिसीव्यक्तिनेउनकेसंस्कृतपढ़ानेपरआपत्तिनहींकी।

राजस्थानविधानसभाकीपहलीमहिलाअध्यक्षकाइंटरव्यू:सुमित्रासिंहबोलीं-एकछोटेसेगांवमेंमेराजन्महुआथा,लेकिनमेरेपिताकोमुझपरभरोसाथा

By Duncan