सीतामढ़ी।सीतामढ़ीमेंसुपरग्रिडबनकरतैयारहोचुकाहैं।इसतरहकासुपरग्रिडसीतामढ़ीकेअलावाबिहारमेंएकदूसरासहरसामेंबनकरतैयारहै।सीतामढ़ीग्रिडकाउद्घाटन14अप्रैलकोकेंद्रीयमंत्रीआरकेसिंहविद्युत,नवीकरणीयउर्जामंत्रीएवंबिहारकेउर्जामंत्रीबिजेंद्रप्रसादयादवकेहाथोंहोगा।सांसदसुनीलकुमारपिटू,विधानपार्षददेवेशचंद्रठाकुर,विधानपार्षदरेखाकुमारी,सीतामढ़ीविधायकमिथिलेशकुमार,विधानपार्षदप्रो.संजयकुमारसिंहकेअलावापावरग्रिडकारपोरेशनआफइंडियालिमिटेडकेअध्यक्षएवंप्रबंधनिदेशकके.श्रीकांत,जिलाधिकारीसुनीलकुमारयादवमौजूदरहेंगे।इसग्रिडकेचालूहोनेसेनसिर्फसीतामढ़ी-शिवहरबल्कि,उत्तरबिहारकीबिजलीआपूर्तिमेंव्यापकसुधारहोगा।अधिकारियोंनेबतायाकिडीएमआफिसकेसमीपस्टेडियम,शंकरचौकसीतामढ़ीमेंउदघाटनसमारोहहोगा।अधिकारियोंकेअनुसार,सीतामढ़ीग्रिडकीक्षमता400/220/132केवीएवं1400एमवीएकीहै।लगभग36एकड़मेंबनेइसविद्युतउपकेंद्रकानिर्माणलगभग34महीनेमेंपूराकरलियागया।इसकाशिलान्यास17जनवरी2019कोहुआथा।

644करोड़हुआखर्च,इसग्रिडसबस्टेशनएवंसंबंधितट्रांसमिशनलाइनचालूहोनेकेबादबिजलीकीनिर्बाधआपूर्तिइसग्रिडसेसीतामढ़ीकेअलावादरभंगा,पूर्वीचंपारण,पश्चिमीचंपारण,शिवहरजिलेमेंबिजलीआपूर्तिहोगी।इसकेसाथहीपावरग्रिडसीतामढ़ीउपकेंद्रसेनेपालकीपनबिजलीपरियोजनाअरुण-तीनसेभीबिजलीलेनेमेंसक्षमहोगा।इसकेलिए400केवीसीतामढ़ी-ढालकेबारकेजरियेग्रिडकोजोड़ाजारहाहै।644करोड़लागतवालेइसग्रिडसबस्टेशनएवंसंबंधितट्रांसमिशनलाइनचालूहोनेकेबादउत्तरबिहारमेंबिजलीकीनिर्बाधबिजलीआपूर्तिकीकोशिशहोगी।यहग्रिडउत्तरबिहारकेदृष्टिकोणसेकाफीमहत्वपूर्णहै।400/220/132केवीमोतिहारीवदरभंगाउपकेंद्रसेजुड़ाहुआहै।इसतरहयहउपकेंद्रराज्यकीनेशनलग्रिडसेकनेक्टिविटीकोमजबूतीप्रदानकरेगा।इसपरियोजनाकीकमिशनिगकेबादइनजिलेमें1400एमवीएतकपावरसप्लाईकीजारहीहै।

By Doherty