सिवान।प्रखंडमुख्यालयस्थितपिडरामालीटोलानिवासीप्रदीपकुमारबटाईपरभूमिलेकरफूलकीखेतीकररहेहैंऔरअपनीसाथजुड़ेअन्यलोगोंकोरोजगारउपलब्धकरानेकाकामकररहेहैं।भूमिविहीनप्रदीपनेप्रखंडमुख्यालयस्थितपीएनबीबैंककेठीकबगलमेंबटाईपरकरीबएकबीघाजमीनलेकर30हजाररुपयेकीपूंजीसेउसमेंगेंदाफूलकीखेतीकी।बरसातकेदिनोंमेंकाफीबारिशहोनेकेकारणफूलकीफसलकोकाफीक्षतिहुईहैऔरमौसमकीबेवफाईनेप्रदीपकेहिम्मतकोकमजोरकरनेकाकामकिया,लेकिनउन्होंनेहारनहींमानीऔरपूरीलग्नवपरिश्रमकेसाथफिरसेखेतीशुरूकी।करीब10कट्ठाभूमिपरफूलकीबगियाबचसकीहै।काफीमेहनतकरनेकेबादवहवर्तमानमेंगेंदाफूलकेअलावाचेरीचेना,गेनीफूलकीभीखेतीकररहेहैं।इसबारअच्छीकीमतमिलजानेसेलागतकाभरपाईकरनेमेंवहसफलरहे।बतायाकिभगवानपुरबाजारकेअलावाकईदूसरेबाजारकेव्यवसायीयहांसेफूललेजातेहैं।फूलकीखेतीसेउसेप्रतिवर्षएक-डेढ़लाखकीआमदनीहोजातीहै।फूलकीखेतीसेअच्छीआमदनीहोजानेकेकारणअबदूसरेकिसानोंसेऔरभूमिबटाईपरलेकरअबखेतीकररहेहैं।प्रदीपनेबतायाकिअबउसेदूसरेरोजगारकीजरूरतनहींहै।

शिक्षाकेनामपरसाक्षरवभूमिविहीनकिसानहैप्रदीप:प्रदीपकुमारबतातेहैंकिउन्हेंअपनीजमीननहींहै।शिक्षाकेनामपरसाक्षरहैं।मेहनतकरपरिवारचलनापड़ताहै।मेहनतकेअनुसारलाभनहींमिलतेदेखकुछअलगसेकरनेकीजुनूनहुई।बटाईपरभूमिलेकरफूलकीखेतीकरनीशुरूकिया।शुरुआतीनिराशाकेबादइससेअबजीवनकीबगियामहकउठीहै।बतायाकिफूलकीखेतीकाफीलागतएवंमेहनतवालीहै।वहफूलकेपौधेकोलकातासेमंगातेहैं।इसकेपौधेकाफीनाजुकहोतेहैं।प्रतिपौधेचारसेपांचरुपयेदरसेमिलतेहैं।इसकीखेतीकरनेसेपहलेखेतकोकाफीबारीकीसेजोतकोड़करजैविकखादकेसाथ-साथरसायनिकखादभीदियाजाताहै।जमीनकीउर्वराशक्तिहमेशाबनायारखनापड़ताहै।फूलोंकेपौधोंमेंभीकीड़ेकाप्रकोपहोताहैइससेबचानेकेलिएकीटनाशकदवाकाछिड़कावकियाजाताहै।उसनेनीलगायोंकेउत्पातसेचिताजताई।

By Duffy