गोपालगंज:शहरकेबाजारोंमेंरंग-बिरंगीराखियोंकीदुकानेंसजगईहैं।हरआयुवर्गकेलिएअलग-अलगराखियांबाजारमेंमौजूदहैं।इसबारओमऔरस्वास्तिकजैसेधार्मिकचिह्नवालीराखियोंकीमांगज्यादाहै।मैसेजराखी,स्वैगराखी,स्पेशलगिफ्टकेबॉक्सवालीराखियोंकीभीलोगोंकोलुभारहीहैं।बच्चोंकेलिएकार्टूनऔरम्यूजिकलराखियांभीबाजारमेंमौजूदहैं।

राखीकापर्वनजदीकआनेकेसाथहीभाईकीकलाईपरराखीबांधनेकेलिएबहनोंकाबुलावाआनेलगाहै।इसकीकेसाथशहरसेलेकरकस्बाईइलाकोंमेंरंग-बिरंगीराखियोंसेदुकानेंसजगईहैं।लोगोंकीयहांभीड़भीलगनेलगीहैं।बाहररहनेवालेभाइयोंकीकलाईसुनीनरहजाएइसकोलेकरबहनोंउन्हेंराखियांभेजनेभीलगगईहैं।इसकेसाथहीबाहरपढ़ाईकरनेगएयानौकरी,व्यवसायकेसिलसिलेमेंबाहररखनेवालोंभाइयोंकोबहनोंकीतरफसेबुलावाभीभेजाजारहाहै।बहनशादी-शुदाहुईतोअपनेघरआनेकोअपनेभाईकोनिमंत्रणदेरहींहैं।अगरभाईनहींपहुंचसकेतोउसकेपासमायकेजानेकीतैयारीकररहीहैं।इसबारराखीकोलेकरबाजारोंमेंएकअलगतरहकाट्रेंडभीदेखनेकोमिलरहाहै।आस्थाकेरंगमेंरंगीराखियोंकीइसबारखासडिमांडहै।देवताओंकेचित्रवालीराखियांभीअपनीखासजगहबनाएहुएहैं।रेवड़ी,चंदन,मिश्री,चावलकेछोटे-छोटेबाक्सकेसाथलगायागयाराखियोंकासेटलोगोंकोखूबभारहाहै।मौनियाचौकपरराखीबेचनेवालेदुकानदारबतातेहैंकिवहकईवर्षोसेराखीबेचरहेहैं,लेकिनधार्मिकचिन्हवालीराखियांकीमांगपहलेइतनीनहींथी।रेशमकीडोरीकाक्रेजहैबरकरार

कहनेकोतोधागोंकाफैशनकाफीपुरानाहोचलाहै।लेकिनआजभीबहुतोंकीपसंदरेशमकीडोरीहीहै।हालांकिबाजारमेंइसकीवैरायटीकमहै।दुकानदारोंकेमुताबिकप्रतिदिनकाफीलोगरेशमकीडोरीवालीराखियोंकीडिमांडकरतेहुएदुकानपरपहुंचरहेहैं।नीले,लाल,हरे,पीलेरंगोंकीरेशमवालीराखियोंकीकीमत20रुपयेसेशुरूहोरहीहै।डिजाइनकेअनुसारकीमतलियाजारहाहै।

By Evans