जेएनएन,अमरोहा:कोरोनाकेगंभीरमरीजोंकेलिएजिलाअस्पतालवनिजीकोविडअस्पतालश्रीवेंक्टेश्वरमेंबेडसेलेकरचिकित्सकोंकीव्यवस्थादुरुस्तहै।इसमेंजिलाअस्पतालकेपीकूवार्डमेंपांचवेंटिलेटरलगाकरतैयारकिएगएहैं।मरीजोंकोवेंटिलेटरकीसुविधादेनेकेलिएएनेस्थीसियाचिकित्सककोतैनातकियागयाहै।वहींआक्सीजनभीभरपूरमात्रामेंउपलब्धहै।

स्वास्थ्यविभागकोरोनाकेबढ़तेसंक्रमणकोलेकरसतर्कहोगयाहै।सामान्यलक्षणवालेमरीजोंकोघरपरहीक्वारंटाइनकियाजारहाहै।जबकिलक्षणवालेमरीजोंकेलिएबछरायूं,जोया,गजरौला,ढबारसीआदिमेंएल-1वार्डतैयारकिएगएहैं।इसमेंआक्सीजनकेलिएप्लांटसंचालितहैं।वहींकोरोनाकेगंभीरमरीजोंकोभर्तीकरानेकेलिएजिलाअस्पतालमें25पीकूवार्डबनाएगएहैं।इनमेंपांचवेंटिलेटरकीसुविधाभीउपलब्धहै।वहींएनेस्थीसियाडा.प्रकाशकोतैनातकियागयाहै।जबकिनिजीकोविडअस्पतालश्रीवेंक्टेश्वरमें250बेडकीव्यवस्थाकीगई।इसमेंवर्तमानमें17वेंटिलेटरहैं।एसीएमओडा.दिनेशकुमारनेबतायाकिवेंटिलेटरचलानेकेलिएचारविशेषज्ञचिकित्सकतैनातहैं।फिलहालगंभीरमरीजोंकेइलाजकेलिए22वेंटिलेटरस्वास्थ्यविभागकेपासहैं।आक्सीजनप्लांटचलानेकेलिएआपरेटरोंकीकमी

जिलाअस्पतालसमेतसमस्तसीएचसीमेंमरीजोंकेलिएभरपूरआक्सीजनकीव्यवस्थाहै।अस्पतालोंमें11आक्सीजनप्लांटसंचालितहैं।साथहीएकहजारआक्सीजनकंसंट्रेटर,सिलिडरोंकीव्यवस्थाहै,लेकिनआक्सीजनप्लांटचलानेवालेआपरेटरकमहैं।पांचआपरेटरकीकमीहै।स्वास्थ्यविभागनेडीएमकेमाध्यमसेशासनसेआक्सीजनप्लांटआपरेटरकीमांगकीहै।

By Duncan