भिन्न-भिन्नरूपरंगऔरबोल-भाषाकेबावजूदहमएकराष्ट्रीयताकीगांठमेंबंधेहैं।हिन्दू,मुस्लिम,सिखऔरइसाईराष्ट्रीयपर्वोंकोएकसाथमनातेहैं।हमारेदेशमेंदीपावलीहोयाफिरक्रिसमससभीत्योहारोंमेंएकदूसरेकेघरजाकरबधाईदेनेकासिलसिलासनातनसेचलारहाहै।विभिन्नभौगोलिकस्थितियोंमेंरहनेवालेलोगदेशप्रेमकेजज्बेसेजुड़ेहुएहैं।

भारतदेशकीतरहभिन्नताअन्यकहींनहीं,लेकिनयहांभिन्नताकेबावजूदएकतामिशालहै।हमारीइसीशक्तिकादूसरेलोहामानतेहैं।सेनाकीभर्तीमेंसभीधर्मकेलोगरहतेहैं।देशकेलिएयुद्धमेंसभीवीरगतिकोप्राप्तकरतेहैं।उसदिनसिर्फहिन्दूहीनहींबल्किपूरादेशरोताहै।-उर्मिलादेवी,प्रधानाध्यापकआर्यकन्याइंटरकालेज

क्याकहतेहैंछात्र

-क्रिकेटकामैदानहोयाफिरफुटबाल,भिन्न-भिन्नइलाकोंकेखिलाड़ियोंकीजीतकेलिएपूरादेशप्रार्थनाकरताहै।जीतमेंपूरादेशखुशीमनाताहै,हमारीएकताकायहबड़ापरिचायकहै।-अभय

-यहांपरतरह-तरहकीभाषाहै।कुछकदमपरहीबोलियांबदलजातीहैं।लेकिनमातृभाषाहिन्दीहै।हमहिन्दीकीगांठमेंविभिन्नभाषाओंकोबांधेहुएहैं।-श्रद्धा

-हमारीसंस्कृतिहमारीमजबूतीहै।तमामसंस्कृतियोंऔरत्योहारोंकेबावजूदहमएकहैं।जम्मूसेलेकरकेरलतकतरहतरहकीभेषभूषाएंहैं।लेकिनसभीभारतीयकहलातेहैं।कविता

-प्रत्येकव्यक्तिसंपूर्णवअपूर्णदोनोंहीहै।हमसभीपहलेभारतीयहैंऔरबादमेंकुछऔर।हमारीविविधतामेंहीएकताहै।जबहमारेखिलाड़ीविदेशजातेहैंतोपूरादेशउनकीजीतकीदुआमांगताहै।-नागेशबुंदेला

By Farmer