जागरणसंवाददाता,सिरसा

हरकिसीकाजिदगीमेंएकसपनाअपनाआशियानाबनानेकाहोताहैमगरअबयहबनानामहंगाहोगया।अबभवननिर्माणसामग्रीमेंभीतेजीदेखीजारहीहै।सीमेंटपरडेढ़महीनेमेंकरीब20रुपयेबढ़ेहैं,तोईंटरेतावक्रेशरकेदामोंभीउछालआयाहै।ऐसेमेंआमआदमीकेलिएअपनाआशियानाबनानाकठिनाईभरानजरआरहाहै।महंगाईबढ़नेसेबिल्डिंगमैटेरियलसप्लायरोंवट्रेडर्सकाकामभीमंदाहै।बढ़ीहुईकीमतोंकेकारणघरबनानेकेइच्छुकलोगअपनेविचारोंकोबदलकरकीमतोंकेघटनेकाइंतजारकररहेहै।पेट्रोल-डीजलवलेबरनहींमिलनेसेबढ़ेदाम

भवननिर्माणसामग्रीकेभावबढ़रहेहैं।मौजूदासमयमेंईंटसेलेकररेत,सीमेंट,सरियावअन्यसामग्रीकेदामबढ़गएहैं।जिसकाकारणबढ़तीपेट्रोल-डीजलवलेबरनहींमिलनाहै।निर्माणसामग्रीविक्रेताओंकेअनुसारअभीकुछदिनोंतकराहतमिलनेकीउम्मीदनहींहैबल्किवृद्धिहोनेकीसंभावनाबनीहुईहै।इससेजहांआमव्यक्तिपरेशानहैंवहींशहरकेउनबड़ेव्यापारियोंकीचांदीहोगई।जिनकालॉकडाउनमेंनिर्माणसामग्रीनहींबिकनेपरस्टॉकपड़ाहुआथा।उन्होंनेपिछलेदामोंमेंआईसामग्रीकोमहंगेदामोंमेंबेचनाशुरूकरदियाहै।

किसनिर्माणसामग्रीकेकितनेबढ़ेभाव

लॉकडाउनसेपहलेईंटोंकेभावप्रतिहजार4700रुपयेथेजोअबबढ़कर5200रुपयेतकपहुंचगएहैं।सरियाप्रतिक्विंटल4500रुपयेसे4700रुपयेतकपहुंचगयेहैं।सीमेंटकाभावप्रतिबैग20रुपयेमहंगाहुआहै।निर्माणमेंप्रयोगहोनेवालारेता90से100रुपये,क्रेशर80रुपयेसे85रुपयेतकपहुंचगयेहैं।भवननिर्माणठेकेपरलेनेवालोंकोहोरहाहैनुकसान

निर्माणठेकेदारनेबतायाकिपिछलेनिर्माणसामग्रीकेदामबढ़रहेहैं।इसीकेसाथलेबरनहींमिलरहीहै।जिससेठेकेपरलिएगयेकार्यनहींहोपारहेहैं।काफीनुकसानझेलनापड़रहाहै।जबकिअभीदाममेंऔरउछालआनेकीसंभावनाहै।भवननिर्माणसामग्रीकेविक्रेताललितकुमारनेबतायाकिनिर्माणसामग्रीमहंगीहोनेकाकारणपेट्रोलडीजलकेभावबढ़नेवलेबरनहींमिलनाहै।सिरसाजिलेमेंराजस्थानकेझूंझनू,नीमकाथानासेआरहीहैजिससेवाहनोंसेलेकरआनामहंगापड़रहाहै।

By Farrell