रूसकीकोरोनावैक्सीनस्पुतनिक-Vकीएकडोजकीकीमततयकरदीगईहै।यहबाजारमें 995.40रुपएमेंमिलेगी।लेकिनजुलाईमेंइसकाउत्पादनभारतमेंहीहोनेलगेगा,तबइसकीकीमतेंकमहोंगी।भारतमेंयहवैक्सीन हैदराबादस्थितडॉ.रेड्डीजलैबोरेटरीजलिमिटेडबनारहीहै।इसमहीनेकेआखिरमेंइसवैक्सीनकी30लाखडोजऔररूससेपहुंचेंगी।भारतकेपासफिलहालतीनकोविशील्ड,कावैक्सीनऔरस्पुतनिक-Vकोरोनावैक्सीनहैं।

रूसकीकोरोनावैक्सीनस्पुतनिक-Vकाएकडोजभारतमें 995.40रुपएमेंपड़ेगा।इसकीकीमततयकरदीगईहै।लेकिनउम्मीदजताईजारहीहैकिजुलाईमेंइसकाउत्पादनभारतमेंहीहोनेलगेगा,तबइसकीकीमतेंकमहोंगी।भारतमेंयहवैक्सीन हैदराबादस्थितडॉ.रेड्डीजलैबोरेटरीजलिमिटेडबनारहीहै।इसमहीनेकेआखिरमेंइसवैक्सीनकी30लाखडोजऔररूससेपहुंचेंगी।भारतकेपासफिलहालतीनकोविशील्ड,कावैक्सीनऔरस्पुतनिक-Vकोरोनावैक्सीनहैं।इससमयभारतमेंस्पुतनिक-Vकी1.50लाखडोजउपलब्धहैं।इसीमहीनेकेआखिरतकभारतकोरूससेइसकी30लाखडोजऔरमिलजाएंगी।

केंद्रसरकारअभीकोविशील्डऔरकोवैक्सीनको250रुपएमेंखरीदकरवैक्सीनेशनअभियानमेंइस्तेमालकररहीहै।हालांकिराज्योंऔरखुलेबाजारमेंइसकीअलगकीमतेंहैं।1मईसेशुरूहुए18सालसेअधिकउम्रकेलोगोंकेवैक्सीनेशनकेमद्दनेजरकेंद्रसरकारनेराज्यसरकारोंऔरनिजीअस्पतालोंकोभीवैक्सीनखरीदनेकीअनुमतिदीथी।अभीकोविशील्डऔरकोवैक्सीनदोनोंकंपनियांअपनेकुलउत्पादनकाआधाकेंद्रकोदेतीहैं।

भारतकेअलावाइसवैक्सीनकोपड़ोसीदेशनेपालऔरबांग्लादेशकेसाथहीतुर्की,चिलीऔरअल्बानिया,रूस,बेलारूस,अर्जेंटीना,बोलीविया,सर्बिया,अल्जीरिया,फिलिस्तीन,वेनेजुएला,पैराग्वे,तुर्कमेनिस्तान,हंगरी,यूएई,ईरान,रिपब्लिकऑफगिनी,ट्यूनीशिया,आर्मेनिया,मैक्सिको,निकारागुआ,रिपब्लिकाश्रीपस्का,लेबनान,म्यांमार,पाकिस्तान,मंगोलिया,बहरीन,मोंटेनेग्रो,सेंटविंसेंटऔरग्रेनेडाइंस,कजाकिस्तान,उज्बेकिस्तान,गैबॉन,सैन-मेरिनो,घाना,सीरिया,किर्गिस्तान,गुयाना,मिस्र,होरासुर,ग्वाटेमाला,मोल्दोवा,स्लोवाकिया,अंगोला,कांगोगणराज्य,जिबूती,श्रीलंका,लाओस,इराक,उत्तरीमैसेडोनिया,केन्या,मोरक्को,जॉर्डन,नामीबिया,अजरबैजान,फिलीपींस,कैमरून,सेशेल्स,मॉरीशस,वियतनाम,एंटीगुआऔरबारबुडा,मालीऔरपनामामेंइमरजेंसीअप्रूवलमिलचुकाहै।

कोरोनासंक्रमणसेलोगोंकीसुरक्षाकेलिए1मईसे18सालसेअधिकउम्रकेसभीलोगोंकेलिएवैक्सीनेशनप्रोग्रामशुरूकियागयाहै।भारतमेंदुनियाकासबसेबड़ावैक्सीनेशनप्रोग्रामचलरहाहै।

इसवैक्सीनकोपिछलेदिनोंहीभारतमेंइमरेंसीअप्रूवलमिलाथा।भारतमेंरूसकेउपराजदूतरोमनबाबुश्किनकेअनुसार,भारतद्वारास्पूतनिकवैक्सीनकोइमरजेंसीअप्रूवलदेकरदोनोंदेशोंकेबीचस्पेशलपार्टनरशिपकेनएदरवाजेखोलेहैं।भारतमेंSputnikVवैक्सीनबनारहीडॉरेड्डीलैबनेवैक्सीनकेइमरजेंसीइस्‍तेमालकेलिएमंजूरीमांगीथी। रशियनडायरेक्टइन्वेस्टमेंटफंड(RDIF)एजेंसीनेबतायाकिस्पूतनिकवीकोरोनावैक्सीनकोपरमिशनदेनेवालाभारत60वांदेशहै।RDIFकेसीईओकिरिलदिमित्रेव (KirillDmitriev)नेकहाकिभारतमेंइसवैक्सीनकीहरसाल850मिलियनडोजबननेजारहीहैं।यहदुनियाभरकेकरीब425मिलियनलोगोंकेलिएपर्याप्तहैं।इसवैक्सीनकेलिए10देशोंकेबीचपार्टनरशिपहुईहै।

कहाजारहाहैकियहवैक्सीनभारतबायोटेककीCovaxinऔरसीरमइंस्टिट्यूटऑफइंडियाकीCovishieldसेज्यादाअसरदारहै।ऐसेमेंइसवैक्सीनसेनतीजेऔरबेहतरमिलसकतेहैं।  इसकेअलावा SputnikVवैक्सीनकीखासबातयेहैकिइसे2से8डिग्रीसेल्सियसतापमानकेबीचस्‍टोरकियाजासकताहै।इसीतरहकोविशील्डऔरकोवैक्सिनकोस्टोरकरनाभीआसानऔरसुविधाजनकहै।Sputnikकीभीदोडोजदेनीपड़ेंगी।

वैक्सीन,दवाओं,डायग्नोस्टिकटेस्ट्सऔरमेडिकलडिवाइसेजकेलिएइमरजेंसीयूजऑथराइजेशनलियाजाताहै।भारतमेंइसकेलिएसेंट्रलड्रग्सस्टैंडर्डकंट्रोलऑर्गनाइजेशन(CDSCO)रेगुलेटरीबॉडीहै।CDSCOवैक्सीनऔरदवाओंकेलिएउनकीसेफ्टीऔरअसरकेआकलनकेबादऐसाअप्रूवलदेताहै।

By Douglas