सहरसा।मेडिकलएवंअन्यपढ़ाईकेक्रममेंलॉकडाउनकेकारणबिहारकेलगभगसातसौछात्रयूक्रेनमेंफंसेहैं।सहरसावार्डनंबर16सत्यानगरकेनिवासीअरविदसिंहकेपुत्रसर्वेशनेयूक्रेनसेदैनिकजागरणकोमोबाइलऔरव्हाटसएपकेजरिएयहजानकारीदी।उन्होंनेबतायाकिमईमहीनेमेंयहांकेसभीविविमेंअवकाशहोजाताहै।इससमयसभीलोगअपनेघरचलेजातेहैं।यहांबिहारकेछात्रोंकाएकग्रुपहै,जिसमेंसभीलोगभारतलौटनेकेलिएअपनीउत्सुकताजतारहेहैं।खासकरनएछात्रजोपहलीबारविदेशआएहै,उन्हेंघरलौटनेकीबेहदबेचैनीहै,सभीलोगभारतसरकारकीओरटकटकीलगाएहुएहैंकिबिहारकेलिएशायदकोईविशेषविमानकीव्यवस्थाहोगी।जैसे-जैसेदिनबीतरहाहै,छात्रोंकीव्यग्रताबढ़तीजारहीहै।उधरहमसबोंकेअभिभावकभीपरेशानीभीबढ़तीजारहीहै।सर्वेशनेबतायाकिविन्तेशियानेशनलमेमोरियलयूनिवर्सिटी,वोगोम्लेटसनेशनलयूनिवर्सिटी,आइवीआइवीनेशनलयूनिवर्सिटीमेंपढ़रहेहैं।हमलोगविमानकाभाड़ातोदेनेकेलिएतैयारहैं,परंतुक्वारंटाइनकेनामपरप्रतिदिन31सौरुपयेदेनेमेंसक्षमनहींहै।ऐसेमेंअगरसरकारद्वारायूक्रेनसेबिहारकेलिएविशेषविमानकाप्रबंधकियाहोजाताहैतोहमलोगक्वारंटाइनकेखर्चसेबचजाएंगे।यूक्रेनमेंहीरहरहेसहरसाकेअसनिलयादव,लखीसरायकेमनीषकुमार,खगड़ियाकेनीतीशकुमारआदिनेबतायाकिभारतमेंसीटकमरहनेकेकारणहमलोगपूर्वीयूरोपमेंआकरमेडिकलकीपढ़ाईकररहेहैं।हमलोगोंकेपरिवारपरपहलेसेहीकाफीआíथकबोझहै।उनलोगोंनेसरकारसेयूक्रेनसेबिहारकेलिएविशेषविमानकाप्रबंधकरनेऔरसरकारीस्तरसेक्वारंटाइनकाप्रबंधकरनेकाआग्रहकियाहै।उनलोगोंकोउम्मीदहैकिइससंकटकीघड़ीमेंसरकारअपनेबच्चोंकीसमस्यापरजरूरध्यानदेगी।

By Doherty