जागरणसंवाददाता,ऊना:नेताप्रतिपक्षमुकेशअग्निहोत्रीनेभाजपापरनिशानासाधाहै।उन्होंनेकहाकिप्रदेशसरकारराजधर्मनिभानेमेंविफलहोगईहै।कोरोनाकालमेंसरकारराजनीतिचमकानेमेंव्यस्तरही।जबलोगोंकोअन्यप्रदेशोंसेवापसलानेकासमयथातोबार्डरसीलकरलिएगए।जबवहांवेसंक्रमणकाशिकारहोगएतोबार्डरखोलेगए।अबफिरफैसलापलटदियागयाहै।

मुकेशअग्निहोत्रीनेमंगलवारकोऊनामेंपत्रकारोंसेकहाकिभाजपासरकारनेप्रदेशमेंआपातकालजैसेहालातबनादिएहैं।किसीभीनिर्णयमेंकिसीसेसलाहनहींलीजारहीहै।जोलोगपरमिटसेप्रदेशमेंआनाचाहतेहैं,उन्हेंपरमिटनहींदेनेकाफैसलालियाजारहाहै।कुछलोगट्रेनमेंबिनापरमिटसीधेघरपहुंचरहेहैं।ऐसेहीहेलीटैक्सीकीव्यवस्थाहै।वीआइपीकेलिएरास्तेनिकालेजारहेहैं।किसेक्वारंटाइनकरनाहैअथवाकिसेघरमेंरखनाहै,इसमेंसियासतहोरहीहै।सरकारकाविजनस्पष्टनहींहै।नईपंचायतोंकोलेकरसरकारकोस्थितिस्पष्टकरनीचाहिए।अबनईपंचायतेंबनाएजानेकीजरूरतनहींहै।सरकारपंचायतोंमेंप्रशासकतैनातकरनेपरविचारकररहीहैलेकिनयहलोकतंत्रकेखिलाफहोगा।कोरोनाकालमेंआत्महत्याएंक्योंबढ़रहीहैं,किसीएकइलाकेमेंहीमंदिरक्योंखोलनेकानिर्णयलियागया,ठेकेखुलसकतेहैंतोमंदिरबंदक्योंहैं,ऐसेकईसवालजनताकेहैंजिनकाजवाबदेनाहोगा।

By Elliott