जागरणसंवाददाता,फीरोजाबाद:टूंडलाब्लॉककाप्राथमिकस्कूलजाजपुरकोदेखकरआपचौंकजाएंगे।स्कूलकेबाहरदीवारपररंगीनचित्रोंकोदेखकरआपइसेप्राइवेटअंग्रेजीमाध्यमस्कूलसमझसकतेहैं,लेकिनअसलमेंयहहैसरकारीपाठशाला।इसपाठशालामेंयहबदलावपिछलेएकमहीनेमेंआयाहै।स्कूलकीसिर्फदीवारेंहीपढ़ाईकासंदेशनहींदेतीहैं,बल्किस्कूलमेंपढ़रहेबच्चेभीअबअंग्रेजीमेंपहाड़ासुनातेहैं।

स्कूलमेंशिक्षणव्यवस्थाकोसुधारनेकेसाथमेंमॉडलस्कूलबनानेमेंसहयोगरहाहैखंडशिक्षाधिकारीसुबोधपाठकका।स्कूलकेप्रधानाध्यापककोउन्होंनेइसकेलिएप्रेरितकियातोस्कूलकेहालातबदलगएहैं।स्कूलकेहरकक्षमेंसीसीटीवीकैमरेलगेहैंतोस्कूलमेंहरकक्षमेंफोनहै।शिक्षकोंकोपढ़ाईकेदौरानकक्षाछोड़नेकीजरूरतनहींहै,अगरप्रधानाध्यापकसेकोईकामहैतोइनफोनकेजरिएहीवहसंपर्ककरसकतेहैं।वहींसीसीटीवीकैमरेसेहरकक्षमेंनजररखीजासकतीहै।हालांकियहस्कूलऐसानहींथा।स्कूलकेप्रधानाध्यापकचंद्रकांतशर्माकाफीवक्तसेनिलंबितचलरहेथे।एकमाहपहलेचंद्रकांतबहालहुएतोइसस्कूलमेंमात्रछहछात्रपंजीकृतथे,लेकिनउन्होंनेगांवमेंसंपर्ककरस्कूलमेंएकमाहमें46बच्चोंकेप्रवेशकिएहैंतथाछात्रोंकीइससंख्याकोनएसत्रमें250तकलेजानेकालक्ष्यहै।स्कूलमेंशिक्षकोंकाअभावहै।तीनसमायोजितशिक्षामित्रहीकार्यरतहैं,ऐसेमेंप्रधानाध्यापककेप्रयासोंसेगांवकीसंगीता,कमलेशएवंसुबोधबच्चोंकोपढ़ानेमेंसहयोगकरतेहैं।

वातानुकूलितहॉलएवंठंडेपानीकीव्यवस्था:

स्कूलमेंछोटेबच्चोंकेलिएवातानुकूलितहॉलहै।1200वर्गफुटकेइसहॉलमेंदोएसीलगेहुएहैं।वहींपीनेकेपानीकेलिएयहांपरफ्रीजरलगेहुएहैं,जिससेबच्चोंकोठंडापानीमिलसके।वहींबच्चोंकोएमडीएमकेसाथमेंएक-एकनैपकिनदियाजाताहै।स्कूलमें150पौधेभीलगेहैं।

साइकिलकेसाथझूलेकीव्यवस्था:स्कूलमेंबच्चोंकेलिएफर्नीचरकेसाथछोटेबच्चोंकेलिएछहसाइकिलभीरखीहैं।इसकेसाथमेंवॉकरएवंझूलेलगेहैं,ताकिगांवकेबच्चेस्कूलमेंपढ़नेकेलिएलालायितहों।

By Duffy