राज्यब्यूरो,शिमला:प्रीनर्सरीकक्षाएंशुरूहोनेसेसरकारीस्कूलोंमेंदाखिलोंकीसंख्यामेंआशातीतबढ़ोतरीहुईहै।यहबातमंगलवारकोशिक्षामंत्रीसुरेशभारद्वाजनेबैजनाथकेविधायकमुलखराजकेसवालकेलिखितजवाबमेंकही।उन्होंनेबतायाकिपहलेप्रीनर्सरीकीकक्षाएंस्कूलोंमेंनहींहोतीथी।राज्यसरकारनेइससंबंधमेंनईपहलकी।2018-19में3391स्कूलोंमेंऐसीकक्षाएंशुरूकीगई।2019-20मेंइनस्कूलोंकीसंख्या3740होगई।2018-19मेंनर्सरी,केजीमेंसरकारीस्कूलोंमें27000हजारबच्चोंनेदाखिलेलिए।वहीं2019-20में16हजारनएबच्चेनर्सरीमेंदाखिलहुए।

इसकेलिएप्रदेशसरकारनेकईकदमउठाएहैं।सभीस्कूलोंमेंप्रयोगशालाकीव्यवस्थाकीगईहै।स्मार्टकक्षाओंकेतहत2137स्कूलोंमेंआइसीटीप्रयोगशालाएंचलाईजारहीहैं।बच्चोंकोभाषायीकौशलविकासकेलिएविद्यालयस्तरपर36भाषाप्रयोगशालाएंशुरूकीहैं।कलाअध्यापकोंके1579पदरिक्त

अन्यसवालकेलिखितजवाबमेंशिक्षामंत्रीनेकहाकिप्रदेशमेंकलाअध्यापकोंके1579पदरिक्तहैं।शिक्षाकाअधिकारअधिकारीअधिनियममेंजिनस्कूलोंमें100सेकमछात्रहैं,वहांकलाअध्यापकोंकेपदभरनेअनिवार्यनहींहैं।सरकारनेकलाअध्यापकोंके881पदोंकोपूलपररखाहै।उच्चववरिष्ठमाध्यमिकपाठशालाओंमें87पदभरनेकीप्रक्रियाजारीहै।मछुआरोंकोलाइफजैकेट

बिलासपुरकेविधायकसुभाषठाकुरकेसवालकेलिखितउत्तरमेंमत्स्यमंत्रीवीरेंद्रकंवरनेकहाकिगोविद्रसागरजलाशय,कांगड़ाकेपौंगजलाशय,चंबाकाचमेरा,रणजीतसागरके32मछुआरोंकोविभागनेलाइफजैकेटप्रदानकीहै।ऐसाउनकीसुरक्षाकीदृष्टिसेकियाहै।

निजीबसोंकाहिमाचलमेंनहींरिकॉर्ड

हिमाचलमेंदूसरेराज्योंकीलग्जरीबसोंकेमालिकोंकाकोईरिकॉर्डनहींहै।ऑलइंडियापरमिटकेवालीलग्जरीबसेंसंबंधितगृहराज्यमेंपंजीकृतहोतीहैं।इसकारणइन्हेंचलानेवालीकंपनियोंकाब्योरानहींमिलसकताहै।नेताप्रतिपक्षमुकेशअग्निहोत्रीकेसवालकेलिखितजवाबमेंमुख्यमंत्रीजयरामठाकुरनेबतायाकिऐसीबसेंमोटरव्हीकलएक्टकेतहतचलरहीहैं।

डमटालमंदिरमें883कब्जाधारी

कांगड़ाकेडमटालमेंठाकुरगोपालमंदिरकीजमीनपरवर्षोसेसैकड़ोंलोगोंनेकब्जाकररखाहै।विधायकरीतादेवीकेसवालकेलिखितजवाबमेंवनमंत्रीगोविदठाकुरनेकहाकिइनकब्जाधारकोंकीसंख्या883है।हालांकिइनकब्जोंकोनियमितनहींकियाजासकताहै।

निजीस्कूलनहींवसूलपाएंगेभवन,विकासनिधि

हिमाचलप्रदेशस्कूलशिक्षाबोर्डऔरसीबीएसईसेसंबद्धताप्राप्तनिजीस्कूलमनमानीनहींकरपाएंगे।यहआमसभामेंहीअभिभावकोंकीसहमतिसेहीफीसबढ़ासकेंगे,अपनीमर्जीसेनहीं।स्कूलप्रबंधनभवननिधि,विकासनिधि,अधोसंरचनानिधिनहींवसूलपाएंगे।यहजानकारीशिक्षामंत्रीसुरेशभारद्वाजनेनालागढ़केविधायकलखविद्रसिंहराणाकेसवालकेलिखितजवाबमेंदी।

By Doyle