संवादसूत्र,गोवर्धन(मथुरा):

आस्थाकाशहरएकबारफिरभक्तिकेदीपोंसेजगमगाउठाहै।कोरोनाकीबंदिशोंसेमुक्तहोगोवर्धनपरिक्रमागिरिराजजीकेजयकारोंसेगूंजरहीहै।मंदिरकेकपाटआमश्रद्धालुओंकेलिएसीमितसमयकेलिएखोलदिएगएहैं।एकबारफिरदानघाटीगिरिराजजीश्रृंगारधारणकरभक्तोंकोदर्शनदेनेलगे।

गोवर्धनकी21किमीपरिक्रमामेंतीनमंदिरदानघाटी,मुकुटमुखारविदऔरजतीपुरामुखारबिदप्रसिद्धहैं।इनमेंदानघाटीमंदिरपरसबसेज्यादाभक्तोंकाआवागमनरहताहै।कोरोनाकालमेंसाढ़ेछहमहीनेसेमंदिरकेकपाटबंदहैं।मुकुटमुखारबिदऔरजतीपुरामुखारबिदमंदिरकेकपाटपूर्वमेंआमजनकेलिएखोलेजाचुकेहैं,लेकिनदानघाटीमंदिरकेकपाटअभीबंदथे।मंदिरकर्मीअशोकपुरोहितनेबतायाकिअधिकमासमेंभक्तोंकोनिराशनलौटनापड़े,इसकेलिएमंदिरकेकपाटसुबह4:30बजेसेपांचबजेतकमंगलाआरतीकेसमयखुलनेलगेहैं।शामको5से7बजेतकभीमंदिरकेपटखोलेजारहेहैं।हालांकिगिरिराजजीकेअभिषेककोअभीभक्तोंकोइंतजारकरनाहोगा।कोरोनासंक्रमणसेबचावकेउपायहोजानेतकमंदिरमेंप्रवेशपरप्रतिबंधलगाहुआहै।तयसमयपरमंदिरकेकपाटखोलदिएजातेहैं,भक्तमंदिरसीमासेबाहरखड़ेहोकरप्रभुकेदर्शनकरसकतेहैं।

By Dunn