संस,चरखारी(महोबा):स्वास्थ्यसेवाकीप्राथमिकउपचारकीजननीकहींजानेवालीस्वास्थ्यसेविकाएंआशाबहुएंकोरोनासंक्रमणसेबचानेकेलिएघरघरएकदिनसेलेकर12वर्षतककेबच्चोंकेलिएकिटेंवितरितकररहीहैं।साथहीएक-एकपौधाभीरोपितकररहीहैं।

गांव-गांवपौधारोपणकरपर्यावरणकीअलखजगानेकाआशाबहुओंनेसंकल्पलियाहै।संचारीरोगोंसेबचावकेलिएलोगोंकोजागरूककररहीहैं।प्रत्येकआशाबहूअपनेघरकेआस-पासवस्वास्थ्यकेंद्रकेनजदीकएकपौधालगाकरउसेसंरक्षितकरनेकीजिम्मेदारीलेरहीहैं।सीएससीचरखारीकेतहतसंगिनीसावित्री,सुभद्रापटेरिया,ग्रामकाकुनकीआशाबहूमीरारिवईआशाबहूशिवपति,गोरखारीमा,खरेलाकीकिरण,सहित132आशाबहुओंनेगांवकेप्रसववस्वास्थ्यकेंद्रकेबाहरसेवा,सुरक्षा,पानीडालनेकीजिम्मेदारीलेकरपौधालगानेकीजिम्मेदारीलीहै।संयुक्तचिकित्सालयचरखारीमेंजनसंख्यानियंत्रणपखवाराकेतहतगोष्ठीमेंचिकित्साअधीक्षकडॉ.विनयपटेलनेकहाकिवहजनसंख्यानियंत्रणकेलिएमहिलाओंवपुरुषोंकेमध्यमेंपरिवारनियोजनकीजानकारीकेसाथअपनेक्षेत्रमेंपौधारोपणकरपर्यावरणकोसफलबनाएं।

By Farmer