समस्तीपुर।उजियारपुरप्रखंडकेलखनीपुरमहेशपट्टीगांवकेकुरसाइनचौरकेबीचमेंप्राचीनकालीनधोबीयाहीपोखरमेंपानीनहींरहनेसेयहांकेलोगोंकोकईतरहकीसमस्याएंहोरहीहै।इसपोखरासेलोगोंकीखेतीबारी,छठपूजा,कपड़ाधुलाई,मवेशियोंकोपानीपिलानेतथानहानेकीसुविधाएंजुड़ीहुईहै।परंतुवर्षासमाप्तहोतेहीइसकेपानीसूखजातेहैं।लोगपुन:जलसंकटसेजुझनेलगतेहैं।इतनाहीनहींइसीपोखराके¨भडापरहिन्दूसमुदायकेलोगमुर्दोंकोदाह-संस्कारकरतेहैं।परंतुपानीकेनहींरहनेकेकारणमुर्दोंकाअंतिमसंस्कारकरकेलोगअपनेघरपरहीनहातेहैं।छठपूजाकेसमयग्रामीणनिजीबो¨रगचलाकरपोखरामेंपानीडालतेहैं।तबजाकरपूजासंपन्नहोतीहै।कृषिएवंव्यवसायसेजुड़ेइसपोखराकाकायाकल्पकरनेकेलिएसरकारकीमददकीनिहायतजरूरीहै।स्थानीयअरूणकुमाररजक,अर्जुनसहनी,अखिलेश्वरशर्मा,बेचनसहनी,रामलाल¨सह,प्रमोदकुमारसहनी,अमरनाथसहनीआदिलोगइसकेजीर्णोद्धारकीप्रयासकरतेहैं।परंतुवेविफलहोजातेहैं।इसकावजहहैकिसरकारीस्तरसेपोखराकोबचानेकाप्रयासबिल्कुलनगण्यहै।दैनिकजागरणकेजलजागृतिअभियानमेंआजसभीशामिलहोकरइसकेजीर्णोंद्धारलिएकदमबढ़ायाहै।

By Doherty