डीपीआर्य,सोनीपत

सूबेके15फीसदस्कूलीबच्चेतनावग्रस्तहैं।पढ़ाईकादबाव,परिवारकामाहौल,अपनीबातखुलकरनबोलपानेकीविवशताऔरपरिवारकेलोगोंकेपर्याप्तसमयनदेपानेकेकारणबच्चोंपरमानसिकदबावबढ़रहाहै।बालकल्याणविभागकीओरसे17जिलोंमेंकराएगएसर्वेमेंचितितकरनेवालीतस्वीरसामनेआईहै।सोनीपतमेंभी10स्कूलोंमेंसर्वेकरायागयाथा।इसआधारपरअबस्कूलोंमेंकाउंसिलिगसेलखोलनेकीतैयारीहै।बृहस्पतिवारसेप्रदेशकेबच्चोंकोमोबाइलकेमाध्यमसेकाउंसलिगकराईजाएगी।

बढ़तेदबावनेबच्चोंकाबचपनछीनलियाहै।बच्चोंपरपढ़ाईकाज्यादादबावहै।परिवारकेलोगएक-एकनंबरपानेकेलिएउनपरलगातारदबावबनातेहैं।परिवारकेलोगोंकेसाथहीशिक्षकभीबच्चोंकोबेहतरपरीक्षापरिणामकेलिएटोकतेरहतेहैं।खेलगतिविधियांकमहोरहीहैं।बच्चोंकोखुलेमनसेउछलने-कूदनेकाअवसरकममिलताहै।साथहीपरिवारकेलोगोंसेबच्चोंकीदूरीबढ़तीजारहीहै।सोनीपतकेदसबड़ेविद्यालयोंकेतीनहजारबच्चोंकोकाउंसिलिगवसर्वेमेंशामिलकरविशेषज्ञोंनेउनकेदिलकीबातजाननेकाप्रयासकियाहै।इसतरहकासर्वेप्रदेशके17जिलोंमेंचलायागयाऔरइसकेबादविशेषज्ञइसनतीजेपरपहुंचेहैंकिस्कूलोंमेंपढ़नेवाले15फीसदसेज्यादाबच्चेतनावग्रस्तरहतेहैं।सोनीपतमेंकाउंसिलिगकरनेवालेमनोचिकित्सकडॉ.नीरजकुमारजींदकेहैं।वेसोनीपतकेअलावजींद,झज्जर,पानीपत,करनाल,कैथलऔरफरीदाबादमेंकाउंसिलिगकरचुकेहैं।

डॉ.नीरजकुमारकेअनुसारबच्चोंकाअपनेसहपाठी(विपरितलिग)केप्रतिआकर्षणभीतनावकाबड़ाकारणहै।बच्चेपरिवारमेंकिसीभीसदस्यकेसाथखुलकरबातनहींकरपारहेहैं।ऐसेमेंउनकोनतोसहीजानकारीमिलरहीहैऔरनहीअपनेमनकीबातकिसीसेकहपारहेहैं।सातफीसदबच्चोंकीचिताअपनेभविष्यकोलेकरहै।वेअपनेलक्ष्यतयनहींकरपारहेहैं।दबावबच्चोंकोमनोरोगीबनारहाहै।ऐसेमेंतत्कालसावधानहोकरऔरअपनेबच्चोंकोसमयदेनाशुरूकरें।बच्चोंसेअपनेपनकेसाथबातकीजातीहैंतोवहतीन-चारमिनटमेंहीखुलकरअपनादर्दबतानेलगतेहैं।कईबच्चेतोरोनेलगतेहैं।

शुरूहोगीहेल्पलाइन:

बच्चोंकेतनावकोदेखतेहुए9जनवरीसेप्रदेशमेंटेलीफोनहेल्पलाइनशुरूकीजारहीहै।इसकेकंट्रोलरूममेंविशेषज्ञमोबाइलनंबर8278228020परदूसरेऔरचौथेबुधवारकोदोपहरतीनसेछहबजेतकमनोवैज्ञानिकछात्रोंसेबातचीतकरेंगे।इसकेबादयहरोजानाशुरूकरदियाजाएगा।इसकेकंट्रोलरूममंडलस्तरपरबनाएगएहैं।

हमनेबच्चोंकेसाथहीशिक्षकोंऔरअभिभावकोंकीकाउंसिलिगभीशुरूकीहै।प्रत्येकविद्यालयमेंकाउंसिलिगसेंटरखोलेजानेहैं।परिवारकेलोगोंकोबच्चोंसेखुलकरसंवादकरनेऔरमाता-पिताकीबजायदोस्तकीभूमिकामेंआनेकीजरूरतहै।

-सुरेखाहुड्डा,जिलाबालकल्याणअधिकारी,सोनीपत-झज्जर

By Fisher