नईदिल्ली।कोरोनोवायरससंकटकेदौरानयोगीआदित्यनाथकीछविएकशासनोन्मुखसीईओटाइपमुख्यमंत्रीकेरूपमेंउभररहीहैं।सीएमयोगीआदित्यनाथनेजैसेउत्तरप्रदेशमेंमिशनप्रेरणाऔरऑपरेशनकायाकल्पकेसाथप्राथमिकशिक्षाकीओवरहॉलिंगकीहै,जहांवास्तविकअध्ययनकेनतीजेकेसाथ-साथआवश्यकबुनियादीढांचेमेंसुधारहुआहै।

हालांकिकोरोनावायरसमहामारीकेमद्देनजरउत्तरप्रदेशमेंसरकारीऔरनिजीदोनोंस्कूलोंलॉकडाउनकेविस्तारकेबादबंदरहनेकीउम्मीदहैऔरगर्मीकीछुट्टीकेबादजुलाईमेंहीफिरसेउन्हेंखोलाजासकताहै,लेकिनघरमेंबंदबच्चेरचनात्मकगतिविधियोंमेंलगेरहेऔरउनकासीखनाबंदनहो,इसेसुनिश्चितकरनेकेलिएयोगीसरकारएकपाँच-चरणीययोजनाकोशुरूकररहीहै,जिसकाअन्यराज्यभीपालनकरसकतेहैं।

लॉकडाउनकेकारण60सालोंमेंपहलीबारथमजाएगाएशियाईदेशोंकाविकास-IMF

योगीआदित्यनाथद्वाराबच्चोंकेलिएउक्तपांचकदमविषयवारक्षेत्रीयडिजिटलकंटेंटकोक्यूरेटकरनेकेबादतैयारकिएगएहैंऔरफिरइसेप्रौद्योगिकीकेउपयोगसेविभिन्नअभिनवमाध्यमोंसे1.8करोड़प्राथमिकग्रेडकेछात्रोंकेबीचप्रसारितकररहेहैं।

मिशनमोडमेंकामकरतेहुएयोगीसरकारनेराष्ट्रीयऔरवैश्विकसंगठनोंमसलनसेंट्रलस्क्वायरफाउंडेशन,समाग्रा,सीशमवर्कशॉपइंडिया(बच्चोंकेकार्टूनशोगलीगलीसिमसिमबनानेवालीसंगठन),प्रथम,खानएकेडमी,गूगल,व्हाट्सएप,टीचरएप,यूनिसेफ,एमएचआरडी,दूरदर्शन-उत्तरप्रदेशऔरऑलइंडियारेडियो(एआईआर)केमजबूतनेटवर्कसेसंसाधनोंऔरसेवाओंकीमददलीहै।

Covid19:लॉकडाउनकेकारणअकेलेविमाननक्षेत्रमेंखतरेमेंहैं20लाखनौकरियां!

शैक्षिकविशेषज्ञोंकामानना​​हैकिCovid-19लॉकडाउनकेदौरानउच्च-गुणवत्तावालीडिजिटलसामग्री,बच्चोंकेबीचझुकावऔरव्हाट्सएपकेमाध्यमसेमाता-पिताऔरशिक्षकोंकोजोड़नेसेउत्तरप्रदेशमेंबच्चोंकेसीखनेकेपरिणामोंमेंसुधारकरनेमेंएकलंबारास्तातयहोगा।अन्यमुख्यमंत्रीनिश्चितरूपसेयोगीसरकारकेलॉकडाउनकेदौरानअपनेराज्योंमेंछात्रोंकेसाथजुड़नेकीमजबूतपांच-चरणीययोजनाकाअनुसरणसकतेहैं।

LOCKDOWNकेबीचभारतमेंइनकंपनियोंनेदिया25%तकइन्क्रीमेंट,WFHकरनेकाभीएलाउंस

By Duncan